You are currently viewing Essay On Coronavirus In Hindi | कोरोना वायरस पर हिंदी निबन्ध

Essay On Coronavirus In Hindi | कोरोना वायरस पर हिंदी निबन्ध

हेलो दोस्तों आज के इस टॉपिक में हम बात करने वाले हैं कोरोना वायरस के बारे में जिसने अभी तक पूरी दुनिया में अपना विकराल रूप ले लिया है और ना जाने कितने लोगो की जान जा चुकी है इससे अभी तक कोई बच नहीं पाया है और ना ही इसका अभी तक पूरी तरह ईलाज मिला है| जोकि काफी चिंताजनक है |

आज के पहले भी ऐसे कई महामारी आई है जिसने पूरी दुनिया में तबाही मचाई थी उसी तरह कोरोना वायरस ने भी कोहराम मचाया हुआ है यह इस तरह का वायरस है जो संक्रमण से फैलता है|

Essay on coronavirus in hindi : कोरोना वायरस पर विस्तारपूर्वक निबन्ध

कोरोना एक वायरस है जो संक्रमण के माध्यम से पूरी दुनिया में बहुत तेजी से फैलने वाली बीमारी बन गयी है जिससे हर दिन लाखो की संख्या में लोग इस वायरस से संक्रमित हो रहे हैं इसका कारण यह है की ये वायरस एक व्यक्ति से दुसरे व्यक्ति में संक्रमित हो जाता है आज ये महामारी पूरी दुनिया में तेजी से फ़ैल चुकी है जिसके कारण इस वायरस से लोगो की बहुत ज्यादा मात्रा में मौत हो रही है |

इस वायरस का प्रकोप चीन के वुहान में दिसम्बर 2019 के मध्य में शुरू हुआ था विश्व स्वास्थ्य संगठन ने 11 मार्च 2020 को इसे वैश्विक महामारी का दर्जा दिया सबसे पहले इस वायरस को SARS-cov-2 नाम दिया गया, जिसके बाद कोविद-19 नाम से आधिकारिक नामकरण किया गया |

फिलहाल तो इस कोरोना वायरस से पूरी तरह ठीक होने की दवा इस दुनिया में उपलब्ध नहीं है लेकिन इस दुनिया में हर देश के वैज्ञानिक इस कोरोना वायरस को ठीक करने के लिए कई सारे प्रयोग कर रहे हैं |

कोरोना वायरस के होने वाले लक्षण :

  • बुखार
  • सर्दी और खांसी
  • गले में खरास
  • शरीर में थकान
  • सांस लेने में दिक्कत
  • मांसपेशियों में जकडन
  • लम्बे समय तक थकान

कोरोना वायरस कैसे फैलता है?

कोरोना वायरस का आकार इतना छोटा है की इसे नार्मल आँखों से देखना मुश्किल है इसे देखने के लिए माइक्रोस्कोप का प्रयोग करना पड़ता है तब जाकर बहुत ही बारीक आकार में यह वायरस नजर आता है |

जब कोई संक्रमित व्यक्ति खांसता है, थूकता है या फिर छींकता हैतो उसके बारीक कण हवा में फ़ैल जाते हैं और हवा में फैले वायरस किसी अन्य व्यक्ति को संक्रमित कर देते हैं अगर कोरोना संक्रमित व्यक्ति ने किसी चीज को छुआ है और उसके बाद किसी दुसरे व्यक्ति ने उस चीज को छू लिया तो उसे भी कोरोना आसानी से हो जाता है |

Essay on coronavirus in hindi
Photo by CDC from Pexels

कोरोना वायरस के संक्रमण से कैसे बचे?

  • कोरोना से संक्रमित क्षेत्र में जाने से बचे |
  • अपने मुह और नाक को अच्छी तरह से मास्क से ढके |
  • समय-समय पर हाथो को सेनेताईज या साबुन से कम से कम 20 सेकंड तक धोये|
  • दो गज की सामाजिक दूरी बनाए रखे |
  • किसी संक्रमित व्यक्ति के सम्पर्क में आने के बाद खुद को परिवार या समाज से कम से कम 14 दिन तक अलग रखे |
  • खांसते या छींकते समय अपने नाक और मुह को अच्छी तरह ढके |
  • बहुत जरुरी होने पर ही घर से बहार निकले |
  • अपने चेहरे को छूने से बचे |

10 Lines essay on coronavirus in hindi : कोरोना वायरस पर 10 लाइनों में निबन्ध

  1. जैसा की सभी को पता है की कोरोना वायरस एक संक्रमित बीमारी है जो संक्रमित व्यक्ति के सम्पर्क में आने से फैलता है |
  2. कोरोना वायरस को कोविद-19 के नाम से भी जाना जाता है इस वायरस को चीन के वुहान शहर के लैब में बनाया गया था जोकि मानव निर्मित है |
  3. इस वायरस का संक्रमण सबसे पहले चीन के वुहान शहर में दिसम्बर 2019 को हुआ था|
  4. विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इसे महामारी नाम से घोषित किया है |
  5. इस वायरस का संक्रमण होने के बाद व्यक्ति को बुखार, सांस लेने में तकलीफ, गले में खरास जैसी समस्या होती हैं|
  6. कोरोना के खिलाफ देश के स्वास्थ्यकर्मी, पुलिस, कोरोना योद्धा स्वय को जोखिम में डालकर देश की सेवा की है |
  7. कोरोना से बचने के लिए मुह पर मास्क लगाना, सामाजिक दूरी बनाकर रखना, हाथो को बार बार धोना, कोरोना का टीका लेना जैसे नियमो का पालन करना चाहिए |
  8. यह वायरस अलग अलग लोगो पर उनकी प्रतोरोध क्षमता के अनुसार अलग-अलग तरीके से प्रभाव डालता है|
  9. कोरोना का संक्रमण पूरी दुनिया में फ़ैल चुका है और यह अपनी पहली, दूसरी और तीसरी लहर के साथ अलग अलग वैरिएंट के रूप में अपना प्रकोप दिखा चुकी है |
  10. हमारी जिम्मेदारी है की हम सरकार के नियमो का पालन सख्ती से करें और देश को कोरोना से मुक्त करें |

अभी के हालात की बात करे तो अभी तक इसकी तीसरी लहर भी पूरी दुनिया में आ चुकी है| जिस तरह से कोरोना की पहली लहर ने तबाही मचाई थी उसी तरह से इसकी दूसरी लहर ने भी उससे भयंकर तबाही मचाई थी और इस दूसरी लहर में मरने वालो की संख्या काफी ज्यादा थी |

ना जाने हमारे देश और पूरी दुनिया ने कितने मुश्किलों का सामना किया, महीनो तक घर में बंद रहे जिसके लिए सरकार को लॉकडाउन लगाना पड़ा, लोगो के रोजगार छीन गये, लोग बेघर गो गये कई कंपनी, फैक्ट्री बंद हो गयी स्कूल, कॉलेज बंद हो गये, लोगो को वर्क फ्रॉम होम करना पड़ा |

लेकिन इसके बावजूद लोग इस बिमारी से लड़े और खुद को इसके अनुरूप ढाला, पूरी दुनिया में सिर्फ भारत ही ऐसा देश था जिसने वैक्सीन बनाने और लगवाने में सबसे ज्यादा रिकार्ड्स बनाये और पोरी दुनिया में सप्लाई करने में भी सबसे आगे था |

Impact on education after covid-19 in hindi : कोविद-19 का शिक्षा पर प्रभाव

जब से पूरे देश और पूरी दुनिया में कोरोना फैला तब से सभी स्कूल, कॉलेज, इंस्टिट्यूट बंद हो गये थे और सभी स्टूडेंट्स घर से ही ऑनलाइन क्लासेज दे रहे थे उनका स्कूल, कॉलेज जाना मुश्किल हो गया है |

हालाँकि अभी कुछ जगहों पर स्कूल और कॉलेज खुल गये है लेकिन पूरी तरह से नहीं खुले हैं लेकिन पिछले 2 सालो से स्कूल और कॉलेज पूरी तरह से बंद थे जिसके चलते बच्चो की पढाई पर काफी असर हुआ है |

जो पढाई स्कूल और कॉलेज में जाकर हो सकती है उन्ती अच्छी पढाई घर पर ऑनलाइन माध्यम से नहीं हो पाती है जो प्रैक्टिकल वर्क होता है वो तो बिकुल हो नहीं पा रहा है |

बच्चो को स्कूल और कॉलेज का माहौल नहीं मिल पा रहा है जिससे बच्चो पर मानसिक और शारीरिक प्रभाव पढ़ सकता है बच्चे अपना एग्जाम भी ऑनलाइन ही दे रहे हैं जोकि ज्यादा प्रभावपूर्ण नही है

Impact on indian economy after covid-19 in hindi : कोविद-19 का भारतीय अर्थव्यवस्था पर प्रभाव

  • कोरोना के चलते पूरे देश के अलावा पूरी दुनिया के हालात खराब हो गये हैं काफी जगर आर्थिक मंदी, बेरोजगारी, भूखमरी जैसे हालात हो गये हैं और सरकार इस से निपटने का काम भी कर रही है |
  • हमारे देश की अर्थव्यवस्था पर भी काफी असर हुआ है है काफी नौकरिया चले गयी है लोग बेरोजगार हो गये है, लोगो के व्यापार ठप पड़ गये हैं |
  • गरीब लोगो के पास खाने और रहने के लिए पैसे नहीं है गरीब वर्ग के लोग सबसे ज्यादा प्रभावित हुए हैं जो मेहनत मजदूरी करके रोज पैसे कमाते थे उनका रोजगार भी बंद हो गया है |
  • सरकार को इस समय काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है सरकार के सामने अभी बेरोजगारी एक बहुत बड़ी समस्या बन गयी है |
  • बहुत सारे ऐसे छोटे छोटे काम धंधे थे जो बंद हो गये है अब वे दोबारा से शुरू नहीं कर पा रहे है |

Also Read : वर्क फ्रॉम होम पर निबन्ध

Conclusion :

पूरी दुनिया के सभी देश इस महामारी की वजह से पीढित हैं इसीलिए दुनिया की सभी सरकारे इस वायरस को रोकने के लिए बहुत सारी कोशिशे कर रही है लेकिन अभी तक की मार्ग नहीं मिला है |

हमे बस इतना करना चाहिए की धैर्य रखे, सामाजिक दूरी बनाए रखे, सरकार द्वारा लगाए गये नियमो का पालन करे और अंतिम रूप से डॉक्टरों पर विश्वास रखे |

सूरज एक बार फिर यग जाएगा और हम किसी एक दिन कामयाब हो जाएँगे |

FAQs..

भारत में कोविद-19 के नए लक्षण क्या है?

सुनने में दिक्कत आना, गुलाबी आँख / कंजंक्टिवाइटिस, अत्यधिक कमजोरी, गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ट्रैक्ट संक्रमण, मुँह सूखना और लार का न बनना, गंभीर और लंबे समय तक होने वाला सिरदर्द, डायरिया, रैशेज और त्वचा में जलन इत्यादि नए लक्षण पाए गये हैं |

कोरोना की कौन सी लहर ज्यादा खतरनाक है?

वैसे तो कोरोना की तीनो लहर खतरनाक हैं लेकिन अभी तक दूसरी लहर का रिकॉर्ड काफी खराब रहा है पहली लहर की तुलना में|
तीसरी लहर ज्यादा जानलेवा नहीं है लेकिन यह भी लोगो में काफी नुकसान कर रही है |

क्या वैक्सीन लगवाने से कोरोना से मौत नहीं होगी?

ऐसा नही है किसी भी डॉक्टर या वैज्ञानिक ने इस बात की पुष्टि नहीं की है की वैक्सीन लगवाने से मौत नहीं होगी बल्कि इस वैक्सीन से आपके शरीर में प्रतोरोधक क्षमता बढ़ेगी जो ऐसे वायरस से लड़ने में मदद करेगी |
वैक्सीन लगाने के बाद ही कोरोना संक्रमित होने के 100% सम्भावना है लेकिन यह आपको लड़ने में मदद करेगी |

Vikram mehra

मेरा नाम विक्रम मेहरा है मै उत्तराखंड का रहने वाला हु मैंने B.sc (PCM) से की हुई है और मुझे टेक्नोलॉजी, साइंस और लोगो को अपने ऑनलाइन माध्यम से शिक्षा देना बहुत पसंद है मेरा मकसद ऑनलाइन माध्यम से लोगो तक इनफार्मेशन पहुचाना है और साथ ही मुझे मूवीज देखना, घूमना बहुत पसंद है |

Leave a Reply