You are currently viewing किसान के बारे में 10 लाइनों में निबन्ध | 10 Lines On Farmer In Hindi Essay

किसान के बारे में 10 लाइनों में निबन्ध | 10 Lines On Farmer In Hindi Essay

हेलो दोस्तों आज के इस टॉपिक में हम किसान के बारे में बात करेंगे जोकि आज के समय हमारे देश में एक गंभीर मुद्दा बना हुआ है और जिसके लिए पूरे देश की जनता इस मुद्दे पर ही बात कर रही है| किसान एक ऐसे अन्नदाता है जो हमारे लिए कितना जरुरी है की आप बिना अन्न के जीवित भी नहीं रह सकते हैं |

हमारे देश में किसानो की काफी महत्वपूर्ण भूमिका है और वैसे भी हमारा देश एक कृषि प्रधान देश है और सबसे ज्यादा खेती पर ही देश की सबसे ज्यादा आबादी निर्भर है |

10 lines on farmer in hindi : किसान के बारे में 10 लाइनों में निबन्ध

  1. हमारे देश में अन्नदाता किसानो का दर्जा सबसे उपर है और हमारे यहाँ किसानो को पूजा जाता है |
  2. अगर किसान नहीं होंगे तो खेती नहीं होगी, अगर खेती नहीं होगी तो अन्न नहीं उगेगा और अगर अन्न नहीं उगेगा तो इंसान भूख से मर जाएगा |
  3. एक किसान पूरे साल भर मेहनत करता है वो जब बीज बोता है तो उसे सिचांई के लिए पानी की जरूरत होती है |
  4. फसल बोने के बाद बारिश का इन्तेजार करना पड़ता है की कब बारिश होगी फिर कलियाँ खिलेंगी |
  5. फसल थोड़ी बहुत बड़ी हो जाती है फिर उसकी गुड़ाई करना, उसे कीड़ो से बचाना काफी मुश्किल काम होता है |
  6. जब फसल पकने का टाइम आ जाता है तो सबसे बड़ी जिम्मेदारी आ जाती है और फिर फसल के कटाई के बाद उसे बेचना और बाकी अपने इस्तेमाल में रखना होता है |
  7. एक किसान की जिन्दगी काफी कठिन होती है उसे कड़े धूप में खेतो में काम करना पड़ता है और भूख प्यास के बावजूद भी किसान काम करता है |
  8. एक किसान को अपने खेतो से बहुत प्यार रहता है वह कभी नहीं चाहेगा की कोई उसके खेतो को नुकसान पहुचाये |
  9. आज के समय हमारे देश के किसानो के द्वारा उगाई गयी फसल पूरे दुनिया में भी जाती है उन्हें कमाई का अच्छा जरिया मिल जाता है |
  10. किसान इस देश की शान है जिस पर हमे गर्व है तभी तो हमारे देश का नारा है जय जवान जय किसान |
10 Lines On Farmer In Hindi
Image by Free-Photos from Pixabay

10 lines about farmer in hindi : किसान के बारे में 10 लाइनों में

  1. किसान हमारे अन्नदाता है उनके बिना हम बिना अन्न के एक दिन से भी ज्यादा जीवित नहीं रह सकते हैं |
  2. किसानो का हमारे देश भारत में काफी पुराना इतिहास रहा है आज से नहीं बल्कि कई सालो से किसानो का काफी महत्व रहा है |
  3. पहले के समय में पूरी खेती खुद से होती थी लेकिन आज के समय बड़े बड़े मशीन आ गयी है जिन्होंने काफी किसानो का काम कम कर लिया है |
  4. एक किसान कभी भी बिना खेती के नहीं रह सकता है यही किसान का एक कर्म होता है उसे अपने खेतो से बहुत प्यार होता है |
  5. हमारे देश में अनाज का स्टोर काफी ज्यादा रहता है जिससे आपातकालीन स्थिति में हम इस्तेमाल कर सके | अगर किसान नहीं होते तो क्या होता?
  6. एक किसान को हमेशा चिंता रहती है की उसकी फसल होगी की नहीं क्योकि उन्हें पता है की अगर समय पर बारिश नहीं होगी तो फसल बर्बाद हो जाएगी |
  7. एक किसान का दर्द हम लोग कभी नहीं से सकते हैं की वो किस परेशानी में रहता है उन्हें सूखे की चिंता रहती है, बारिश की चिंता रहती है, कीड़ो की चिंता रहती है, अच्छी फसल होगी की नहीं उसकी चिंता रहती है |
  8. जब किसानो की सफल काफी अच्छी होती है तो उनके चेहरे पर एक ख़ुशी की लहर दौड़ जाती है |
  9. किसानो का अपने जानवरों के प्रति भी काफी प्रेम रहता है वे अपने गाय-भैंसों को नियमित चारा देते हैं |
  10. हमारा देश किसानो की कृषि भूमि है जब तक किसान है तभी तक हम एक कृषि प्रधान देश है जिस दिन इसमें कमी आ गयी तो समझो उस दिन हमारे देश में भूखमरी भी आने से कोई नहीं रोक सकता |

किसान आन्दोलन के हालात के विषय पर निबन्ध :

  • आज के समय भारत में किसानो की जो हालत है वो देखते हुए काफी दुःख होता है की कैसे किसानो का भविष्य राजनीति की बलि चढ़ रहा है |
  • किसान की कोई मांग नहीं होती है वो सिर्फ चाहता है की उसे उसके फसल का अच्छा और उचित दाम मिले उसके फसल बर्बाद नहीं होने चाहिए |
  • आज किसान आन्दोलन कर रहा है और इतनी परेशानी, दर्द झेल रहा है उसका जिम्मेदार कौन है हमे इस बात पर ध्यान देना है |
  • जब से सरकार ने कृषि क़ानून बिल 2020 पास किया तब से किसान इसका विरोध कर रहे हैं उनका कहना है की इस बिल से उनका नुकसान हो रहा है लेकिन सरकार कह रही है की इस बिल के आने से किसान अपनी फसल कही भी बेच सकता है |
  • लेकिन पता नहीं की किसान और सरकार के बीच तालमेल क्यों नहीं बैठ पा रहा है या तो सरकार के बिल में कोई दिक्कत है या वे किसानो को ठीक से समझा नहीं पा रही है |
  • ऐसा भी हो सकता है की किसानो को इस बिल के बारे में ठीक से पता नहीं है या फिर उन्हें गुमराह किया जा रजा है फिर भी इस बिल का विरोध काफी जोर शोरो से हो रहा है |
  • किसानो का पूरा देश सपोर्ट कर रहा है ये अभी के समय इतना भयंकर रूप ले लिया है की शांत होने के नाम ही नहीं ले रहा है |
  • इस आन्दोलन के चलते कितने किसानो ने अपनी जान दे दी है कितने ही घायल हो गये हैं वे अपनी खेती छोड़कर इस आन्दोलन में लगे हुए हैं |
  • किसानो का यह दर्द देखा नहीं जाता है कैसे वे इस हालात में पड़े हुए हैं लेकिन अभी तक इसमें कोई निर्णायक नतीजा नहीं निकला है |
  • अब आज के समय कृषि कानूनों पर किसानो के साथ सरकार का सामंजस्य ना बन पाने के कारण सरकार ने इन कृषि कानूनों को वापस ले लिया है |

Also Read : भारतीय राजनीति पर 10 लाइनों में निबन्ध

Final Word :

दोस्तों किसानो को हमारे देश में क्या भूमिका है इसका अंदाजा आपको पहले से ही होगा इसीलिए हमेशा किसानो को एक अन्नदेवता के रूप में देखना चाहिए |

हम किसानो के साथ हमेशा खड़े है और कभी मौका मिले तो किसानो की मदद के लिए हमेशा तत्पर रहेंगे |

अगर आप भी किसानो के लिए चिंतित है तो हमे कमेंट करके बता सकते हैं |

FAQs..

आज के समय भारत का किसान आत्महत्या क्यों कर रहा है?

जब कोई किसान फसल बोता है और महीनो तक उसके होने का इन्तेजार करता है जिसके लिए वो कड़ी मेहनत करता है उसे चिंता रहती है की बारिश होगी की नहीं, उसे चिंता रहती है की कीड़े तो नहीं लगेंगे, उसे चिंता होती है की फसल खराब तो नहीं होगी |
जब आखिर में फसल खराब हो जाती है और उसकी पूरी मेहनत बर्बाद हो जाती है तो उसके पास और कोई चारा ही नहीं बचता है आत्महत्या के अलावा|

भारत में किसानो की क्या स्थिति है?

आज के समय आप देख सकते हैं की किसान सडको पर उतर आये हैं जो हमारे अन्नदाता है वे आज इतनी बड़ी परेशानी में हैं |
कई किसान तो आत्महत्या तक कर लेते हैं और उनकी कोई नहीं सुनता है

Vikram mehra

मेरा नाम विक्रम मेहरा है मै उत्तराखंड का रहने वाला हु मैंने B.sc (PCM) से की हुई है और मुझे टेक्नोलॉजी, साइंस और लोगो को अपने ऑनलाइन माध्यम से शिक्षा देना बहुत पसंद है मेरा मकसद ऑनलाइन माध्यम से लोगो तक इनफार्मेशन पहुचाना है और साथ ही मुझे मूवीज देखना, घूमना बहुत पसंद है |

Leave a Reply