You are currently viewing अपने दिमाग को पावरफुल कैसे बनाये | Activate Your Brain Book Summary In Hindi By Scott G. Harold

अपने दिमाग को पावरफुल कैसे बनाये | Activate Your Brain Book Summary In Hindi By Scott G. Harold

हेलो दोस्तों आज के इस टॉपिक में हम आपको Scott G. Harold की प्रसिद्ध किताब activate yout brain book की summary के माध्यम से संक्षिप्त विवरण देना चाहते है की कैसे आप अपने दिमाग को पावरफुल बना सकते हैं कैसे आप इसपर काबू पा सकते हैं और कैसे आप अपने दिमाग का अच्छे तरीके से इस्तेमाल कर सकते हैं |

Activate Your Brain Book Summary In Hindi | Scott G. Harold Book Summary In Hindi

दोस्तों हमे इस किताब को क्यों पढनी चाहिए? इसे पढ़कर हमे क्या ज्ञान मिलेगा? जिसका इस्तेमाल करके हम सफलता हासिल कर सकते हैं |

दिमाग हमारे शरीर का अभिन्न हिस्सा है जो पूरे शरीर होने वाली एक्टिविटी पर कण्ट्रोल करता है हम रोजाना की लाइफ में जो भी काम करते हैं उसमे हमारे दिमाग का अहम रोल होता है ये किताब हमे सिखाती है की हमारा दिमाग अलग अलग हिस्सों में बंटा हुआ है और उनका क्या क्या काम है जिसके बारे में लेखक हमे बताना चाहते हैं |

ये किताब हमे सिखाएगी की हमारा दिमाग कैसे काम करता है ऐसी क्या चीज है जो इंसानों को जानवरों से अलग बनाती है और हमारे दिमाग के लिए क्या-क्या जरुरी है इन सभी बातों पर इस किताब में बताया हुआ है |

मुख्यतः हमारा मस्तिष्क तीन भागो में बंटा हुआ है और पिछले कुछ दशको से हमे जो पता चला है उससे ज्ञात होता है की हमारे दिमाग के दो हिस्से चिम्पैंजी से मिलते हैं और बाकी का एक भाग उनसे अलग होता है |

इसे भी पढ़े : Becoming Attached Book Summary In Hindi

रेप्टीलियन ब्रेन (Reptilian Brain) : ये हमारे दिमाग का ऐसा हिस्सा है जिस पर हमारा कोई कण्ट्रोल नहीं होता है हमारी बॉडी की जो जरूरत होती है उसके हिसाब से ये हमारे बॉडी को निर्देश देता है जैसे अगर आपको काफी थकान हो जाती है तो आपका दिमाग आपको सन्देश देता है और आप सो जाते हैं और अगर आपको भूख लगे तो आपका दिमाग आपको खाने की याद दिलाता है |

मैमेलियन ब्रेन (Mammalian Brain) : हमारे दिमाग का ये हिस्सा काफी सक्रीय रहता है जो हमारे आसपास के खतरे, निर्देशों को भांपता है दिमाग के इस हिस्से से हम अपनी भावनाओं को भी feel कर सकते हैं| Fear, Anger, Happiness, Sadness जैसी भावनाओं को पैदा करने का काम इस दिमाग के हिस्से का होता है |

ह्यूमन ब्रेन (Human Brain) : दिमाग का ये हिस्सा हमे जानवरों से अलग बनाता है इस हिस्से का काम होता है की कैसे हम सोच समझकर अपने फैसले लेते हैं, कैसे हमे सही गलत का बोध होता है हम अपनी भावनाओं पर भी काबू पा सकते हैं और अपने आस-पास की चीजो को समझने का काम हमारे दिमाग का ये हिस्सा करता है |

हमारे दिमाग के केमिकल हमे काबू करने की कोशिश करते हैं और काफी हद तक काबू भी करते हैं लेकिन हम भी उन्हें काबू कर सकते हैं |

आपने कभी जोश में आकर निर्णय लिया होगा की कल से रोज पढ़ाई करूँगा लेकिन दो-तीन दिन के बाद जब आपका पढाई करने का मन ना करे तो? हमारे दिमाग में केमिकल रिएक्शन की वजह से ऐसा होता है और ऐसे कौन से केमिकल हैं और वे क्या क्या काम करते हैं इसके बारे में जानते हैं :

दिमाग के कुछ केमिकल हमे ख़ुशी और आनंद का अहसास कराने में मदद करते हैं डोपामाइन हमे आराम दिलाता है नोरेपिनेप्राईन हमारा काम में रूचि पैदा करवाता है और ऑक्सीटोसिन हमे दूसरो पर भरोसा करने और अटैचमेंट बनाने में मदद करता है |

इसे भी जरुर पढ़े : Inner Engineering Book Summary In Hindi

एड्रेनलिन और कोर्टिसोल नाम के केमिकल हमे आस-पास की गतिविधि को भांपने में मदद करता है इन्ही केमिकल की वजह से आज हम जिन्दा और सुरक्षित हैं |

ये सभी केमिकल हम पर इस तरह से काबू करते हैं लेकिन हम भी इन पर काबू कर सकते हैं अगर आपका कुछ भी काम करने का मन नहीं करता है तो आप उस काम के फायदे के बारे में सोचकर अपना मन उस काम को करने में लगा सकते हैं |

अगर आप खुदपर काबू नहीं पा सकते हो तो आप जीवन में कुछ नहीं कर सकते हैं हमारे लाइफ में काफी परेशानिया आते रहती हैं लेकिन हमारा काम है की हम उनका सामना करें |

आज के समय लोग दूसरो पर दोष डालते रहते हैं दूसरो की कमियां निकलते रहते हैं वे पहले खुद को नहु देखते हैं की मै खुद कितना सही हु | ऐसे लोग अपना काम छोड़कर दूसरो पर ही नजर लगाए रहते हैं इसीलिए दूसरो से पहले खुद की जिम्मेदारी लेना सीखे |

अगर आपको कठिन कामो को करने में डर लगता है की आप उस काम को नहीं कर पाओगे या फिर ये आपके बस का नहीं है तो आप खुद को ऐसे हालातो के लिए तैयार कर लीजिये, आप ऐसे कामो की सूची बना लीजिये जिन्हें आपको एक दिन करना ही है अपने आप को पूरी तरह से तैयार रखिये और अपने अंदर आत्मविश्वास बढ़ा कर रखिये |

अपने लक्ष्य को हासिल करने के लिए आपके पास एक मजबूत इच्छा शक्ति और दृढ-संकल्प होना चाहिए

इस तरह के कई रिसर्चर कई रिसर्च कर चुके हैं जहाँ वे लोगो के दिमाग पर काबू पाने की शक्ति पर काम कर चुके हैं एक स्टडी में ये बात साफ़ है की अगर आपके अंदर किसी भी काम को करने की इच्छा शक्ति है तो आप एक दिन सफल जरुर होंगे | सफलता पाने के लिए आपको अपने मन, इच्छाओ पर काबू पाना होगा और आने दिमाग का फोकस बढ़ाना होगा |

अगर आप सोचते है की आप कई सारे काम एक साथ कर लोगे तो ये संभव नहीं है आप इसमें विफल हो जाओगे, आपको सिर्फ एक समय में एक काम में फोकस करना है अगर आप दो काम एकसाथ करोगे तो उसके सफल होने के चांस बहुत कम हो सकते है लेकिन अगर आप एक काम को एक ही समय पर करते हो तो उसके सफल होने के पूरे चांस होते हैं |

इसे भी पढ़े : The Defining Decade Book Summary In Hindi

ऑक्सीटोसिन हमे दूसरो से अच्छे सम्बन्ध बनाए में मदद करता है |

जब भी आप पहले दिन स्कूल, कॉलेज या ऑफिस जाते हैं तो हमे थोडा बहुत घबराहट होती है क्योकि हम किसी को भी नहीं जानते हैं और हम अनजान लोगो के बीच थोडा बहुत डर महसूस करते हैं लेकिन जब हम एक दुसरे को जानने लगते हैं तो हमारा दिमाग ऑक्सीटोसिन पैदा करता है जिससे हम एक दोस्सरे पर भरोसा करने लग जाते हैं |

जब हम नये व्यक्ति से मिलते हैं तो हमारे दिमाग में उनके प्रति एक अलग की भावना महसूस होती है अगर वो पहला दिन काफी यादगार रहता है तो हमारे अंदर ऑक्सीटोसिन बनने लगता है जिससे उनके साथ हमारा रिश्ता और गहरा हो जाता है |

दूसरो से मिलकर हासिल हुई कामयाबी हमे ज्यादा ख़ुशी देता है |

आपने ये तो सुना ही होगा की खुशियां बाटने से और ज्यादा खुशियाँ मिलती है उसी तरह दूसरो के साथ मिलकर काम करने से आपको और ज्यादा मजा आता है और आपको सफलता भी ज्यादा मिलती है |

अपने देखा होगा की लोग अगर घूमने, शौपिंग करने या मूवी देखने जाते है तो वे अकेले नहीं जाते हैं वे अपने साथ किसी दोस्त या रिश्तेदार के साथ ही जाते हैं क्योकिं उन्हें अकेले जाने के बजाय साथ में जाने में ख़ुशी मिलती है |

कभी कभी आप दूसरो की राय भी ले सकते है या फिर उनसे मदद भी ले सकते हैं क्योकि इससे आपको कई आइडियाज मिल जाते हैं और आप उनपर भरोसा भी कर सकते हैं इससे आप एक अच्छे रिश्तो की शुरुआत कर सकते हैं |

क्या आप डिप्रेशन में रहते है? क्या आप अपने काम में फोकस नहीं कर पाते हो? क्या आप आसान कामो में उलझ जाते हो? अगर ये सभी समस्या आपके साथ है तो आपके दिमाग को आराम की काफी जरूरत है |

आराम करने या सोने से हमारा दिमाग कोर्टिसोल नामक हार्मोन्स को बनाता है जिससे हमे तनाव से आराम मिलता है हमारा मस्तिष्क भी हमारे शरीर की तरह ही है ये भी थक जाता है और इसे भी काफी आराम की जरूरत पढ़ती है इसीलिए कभी भी नींद और आराम में कटौती नहीं होनी चाहिए| अच्छी नींद लेने से हम काफी बीमारियों से भी छुटकारा मिलता है हमारी याददाश्त भी काफी मजबूत होती है और तनाव भी कम होता है |

हमारे अवचेतन मन में किसी भी समस्या को सुलझाने की गजब पॉवर होती है हमे अपने दिमाग को शांत और ठण्डा रखना चाहिए जिससे हमारा अवचेतन मन अच्छे से काम करे, इससे आपको सारी समस्याओं का हल मिल जाएगा और आपके पास कई आइडियाज मिल जाएँगे |

इसे भी पढ़े : The Magic Of Thinking Big Book Summary In Hindi

आपको अपने डिवाइसेस से पॉपअप आप्शन को ऑफ कर देना चाहिए |

आप जब भी कोई जरुरी काम करते हैं और इसी बीच आपका मेसेज आ जाता है या फिर कोई notification आता है तो इससे आपका ध्यान भटक जाता है इसीलिए जब भी आपके मोबाइल या कंप्यूटर में काम करते समय कोई पॉपअप मेसेज या notification आये तो उससे पहले उसे ऑफ करके रख देना चाहिए जिससे आपका काम करने में ध्यान अच्छा लगा रहेगा |

Final Word :

दोस्तों Activate your brain book के माध्यम से हमे काफी कुछ सिखने को मिला जिसमे हम मुख्य रूप से ये सीखे की कैसे हम अपने दिमाग को प्रभावी बना सकते हैं और इन सभी चीजो के लिए आपके दिमाग का तंदरुस्त होना काफी जरुरी है |

जब भी हम कुछ भी नया सीखते है तो हमारे दिमाग के न्यूरॉन के नये-नये कनेक्शन बनने लगते हैं और हमारा दिमाग काफी फिट रहता है और डिमेंशिया से सेफ रहता है आप किसी भी नयी चीजो को सिखने के लिए बार-बार प्रैक्टिस करते रहिये |

Vikram mehra

मेरा नाम विक्रम मेहरा है मै उत्तराखंड का रहने वाला हु मैंने B.sc (PCM) से की हुई है और मुझे टेक्नोलॉजी, साइंस और लोगो को अपने ऑनलाइन माध्यम से शिक्षा देना बहुत पसंद है मेरा मकसद ऑनलाइन माध्यम से लोगो तक इनफार्मेशन पहुचाना है और साथ ही मुझे मूवीज देखना, घूमना बहुत पसंद है |

Leave a Reply