Attitude Is Everything Book Summary In Hindi By Jeff Keller

दोस्तों अगर आपको अपने attitude में बदलाव लाना है तो आपको अपनी सोच को बदलना होगा| ऐसा करने से आपको name, फेम, पैसा, इज्जत और शोहरत सबकुछ मिल जाएगा | आपको अपने लाइफ में हैप्पीनेस मिल जाएगी |

लेकिन ये सबकुछ होगा कैसे ? और इसके लिए क्या करना होगा ? इसके लिए आपको इस किताब की summary को पढना और सुनना होगा |

दोस्तों जरा सोचिए की दो व्यक्ति जब एक सुबह उठते हैं तो वे कमरे से बाहर देखते हैं और पाते हैं की आसमान में काले बादल छाए हुए हैं और तेज बारिश होने वाली हैं ऐसे में वे दोनों क्या सोच रहे होंगे?

पहला व्यक्ति : अरे यार, कितना बेकार दिन है आज का, आज पूरा दिन धुप नहीं निकलेगी | मेरा तो मूड खराब हो गया है आज मै कही नहीं जा पाउँगा |

ये सोचकर वो पूरा दिन कमरे में ही पड़ा रहता है और उस दिन को और अपनी किस्मत को कोसते रहता है |

दूसरा व्यक्ति : अरे वाह, कितना सुहाना मौसम है इस बारिश से मौसम ठण्डा हो जाएगा और वैसे भी बारिश की सख्त जरूरत पड़ गयी थी |

चलो आज तो बाहर नहीं जा पाउँगा लेकिन अपने इनडोर के पेंडिंग काम निपटा लेता हूँ | इसके बाद वो सारे काम निपटा लेता है |

दोस्तों इन दोनों व्यक्तियों में हमने देखा की इनके सामने same सिचुएशन थी लेकिन इनके सोचने का नजरिया एकदम अलग था इसके कहते हैं attitude |

पहले व्यक्ति का attitude बिलकुल नेगेटिव था लेकिन दुसरे व्यक्ति का attitude एकदम पॉजिटिव था | ऐसे ही दुसरे किस्म के लोग लाइफ में आगे बढ़ते रहते हैं और अपने goal को हासिल करते हैं लाइफ की हर अच्छी से अच्छी और बुरी से बुरी परिस्थिति में पॉजिटिव रहना ही आपको खुशहाल और सफल बनाता है |

दोस्तों सफलता तो हमारे दिमाग से शुरू हो जाती हैं अगर हम मान ले की हमे तो सिर्फ 9-5 की जॉब करनी है तो हम उसी में फंसे रह जाते हैं और कभी भी बड़ा आदमी नहीं बन पाते हैं क्योकि हमारा goal ही इतना छोटा सा होता है |

इसके विपरीत अगर हम ये सोचे की एक दिन मुझे बहुत बड़े कंपनी का मालिक बनना है तो आप उस तरफ अपना एफर्ट लगाना शुरू कर दोगे जिससे की आप अपने goal के बेहद नजदीक पहुच जाओगे |

Attitude Is Everything Book Summary In Hindi | Attitude Is Everything Audiobook Summary

हम अपने दिमाग में क्या सोच रखते हैं हमारी मेंटालिटी क्या होती है इसी को attitude कहते हैं |

Lesson.1 : Your Attitude Is Your Window To The World

हम इस दुनिया को अपनी आखों से देखने के बजाय अपनी सोच और नजरिये से देखते हैं जिससे हमारे attitude का भी पता चल जाता है attitude एक खुली खिड़की की तरह है जिस तरह से बचपन में ये खिड़की साफ़ और खुली होती है ऐसे वक्त में हमारा पॉजिटिव attitude होता है |

आपने देखा होगा की बचपन में हमारे पास पैसे या कुछ भी जरूरत की चीजे ना होने के बावजूद भी हमे कोई चिंता नहीं होती है हम हर समय खुश रहते हैं लेकिन धीरे-धीरे इन खिडकियों पर वक्त की धुल लग जाती हैं |

समय जैसे-जैसे आगे बढता है हमारे लाइफ में कई चीजे होती रहती हैं जैसे- Criticism, Ridicule, Rehections And Disappointments जैसी नेगेटिव परिस्थिति धुल की तरह हमारी लाइफ की खिडकियों में जमा होते रहते हैं जिससे हमारा attitude साफ़-सुथरा नहीं रहता है |

हमे अपनी जिम्मेदारी बना लेनी चाहिए की लाइफ की इस विंडो पर हमे धुल नहीं जमने देना हैं

Lesson.2 : You Are A Human Magnet

लेखक के अनुसार हम एक चुम्बक की तरह हैं अगर हम अपने अंदर positivity रखते हैं तो हम पूरे समय अपने आस-पास की पॉजिटिव चीजो को ही आकर्षित करते हैं |

जैसा हमारा thought होगा वैसा ही हमारा पूरा दिन बीतेगा | अगर पूरे दिन हम अपने लक्ष्य के बारे में ही सोचते रहे तो एक दिन हम उसे हासिल कर ही लेते हैं लेकिन यदि आप नेगेटिव चीजो के बारे में ही सोचते रहोगे तो आपके लाइफ में कई चीजे नेगेटिव होते रहेंगी |

आपके dominant thought हमेशा पॉजिटिव रहने चाहिए और आपको उन्हें बार-बार दोहराना भी चाहिए इससे आपका attitude पॉजिटिव बना रहेगा |

Also Read : Sapiens Book Summary In Hindi

Lesson.3 : Picture Your Way To Success

बचपन में हमारे दिमाग में काफी सपने होते हैं जिन्हें हमे समय-समय पर हासिल करना होता है लेकिन वक्त के साथ हम अपने सपनो को भूल जाते हैं और अपनी उन क्षमताओ को भी खो देते हैं |

बचपन में हमे बहुत बड़ा बनने की आदत होती हैं और हमे इस आदत को बरकरार रखना है हमे खुद को अपनी सफलता हासिल करते हुए देखना चाहिए |

अगर आपको सिंगर बनना है तो खुद को हजारो के सामने गाते हुए देखें | अगर एक्टर बनना है तो अपनी फिल्मो के पोस्टर लगाते हुए देखो |

यह इमेज अपने दिमाग में बार-बार देखो और हर दिन ऐसा करो |

Lesson.4 : Make A Commitment And You Will Move Mountains

दोस्तों अगर आपने किसी भी बड़ी चीज के लिए कमिट करना सिख लिया तो आप बड़े से बड़ा पहाड़ भी फ़तहे कर सकते हैं कमिटमेंट का मतलब- वादा करना जिसे हर हाल में पूरा करना है फिर चाहे कितनी भी मुश्किलें आ जाये |

छोटे-छोटे वादों से बात नहीं बनेगी इसीलिए एक लक्ष्य निर्धारित कर लीजिये और उसे पूरा करने के लिए कमिट हो जाइये |

बेंजामिन रोल नाम के एक बूढ़े व्यक्ति ने वकील बनने की ठान ली थी | 14 बार असफल होने के बावजूद भी वे अंत में वकील बन ही गये आर उस समय उनकी उम्र 74 साल थी |

ऐसे में अगर उन्होंने कमिट नहीं किया होता तो कभी भी वे सफल नही हो पाते |

Lesson.5 : Turn Your Problems Into Opportunity

दोस्तों यदि आप असफल हो जाए तो क्या करते हो ? क्या आप निराश हो जाते हो या अपनी किस्मत को कोसते रहते हो या फिर अपनी गलतियों से सीख कर आगे बढ़ जाते हो ?

बहुत लोग नेगेटिव attitude की वजह से पहले वाला बर्ताव करते हैं इससे वे अपनी मनचाही सफलता नहीं पाते हैं लेकिन कोई दूसरा वाला पॉजिटिव attitude रखे तो वो व्यक्ति बहुत कुछ हासिल कर लेता है |

हर असफलता हमे कुछ ना कुछ जरुर सिखाता है उसी lesson को सीखकर हम आगे बढ़ते हैं नेपोलियन ने कहा है की बुरे वक्त में अच्छे भविष्य के बीज छुपे होते हैं इसीलिए बुरे वक्त में घबराए नहीं बल्कि पॉजिटिव attitude बनाये रखे |

Also Read : Year Of YES Book Summary In Hindi

Lesson.6 : Your Words Blaze A Trail

हमारे शब्दों में काफी शक्ति होती हैं यही शब्द आपका भविष्य बना भी सकते हैं तो बर्बाद भी कर सकते हैं एक छोटा सा शब्द कई लोगो को प्रभावित कर देता है जैसे बड़े-बड़े नेता लोग सिर्फ एक भाषण से ही पूरी जनता को अपनी तरफ खींच लेते हैं और इलेक्शन जीत लेते हैं |

लेखक ने एक concept बताया है जिसपर हमारा दिमाग काम करता है : Words = Belief = Action = Result.

जब आप कुछ भी शब्द बोलते हो तो आपके अंदर वैसा भी विश्वास बन जाता है फिर आप वैसा काम करने लगते हो और आपको result भी वैसा ही मिलता है |

अगर आपने ठान लिया की अपना खुद का बिज़नस करना हैं तो आपके बोले गये शब्द आपका अवचेतन मन नोट कर लेता है फिर वो belief कर लेता है की आप जरुर सफल हो जाओगे और आपका दिमाग उसी दिशा में काम करते रहता है आपका अवचेतन मन brainstroming करने लग जाता है और नए-नए आइडियाज ढूँढने लगता है |

Lesson.7 : How Are Your ?

दोस्तों हम सबसे ज्यादा एक ही प्रश्न को सुनते हैं how are you? ये लगभग सभी सुनते हैं और शायद यही सबसे ज्यादा पुछा जाता है इसके तीन उतर हो सकते हैं – Negative, Mediocre And Positive.

अगर आप अपने इस प्रश्न का नेगेटिव उत्तर देते हो जैसे की- बुरा हाल है | तो आपका दिमाग वैसे ही इमोशन और प्रतिक्रिया ढूँढने लगता है और आप वाकई में बुरा feel करते हैं |

यदि आप mediocre उतर देते हैं जैसे- ठीक-ठाक ही हैं तो ऐसे में भी आपका दिमाग उदास और निराश ही feel करेगा |

लेकिन यदि आप पॉजिटिव और एनर्जी से भरा उतर देते हैं जैसे- great या बहुत बढ़िया तो आपमें सच में positivity की लहर दौड़ जाएगी |

Lesson.8 : Stop Complaining

लोगो की काफी आदत होती है की वे हर चीज में शिकायत करते रहते हैं इस तरह का attitude बहुत खराब होता है इससे लोग ही क्या, खुशहाली भी उनसे दूर हो जाती हैं कमी तो सभी में होती हैं कुछ लोग खुद की कमियों को नजरअंदाज कर देते हैं और दूसरो की आलोचना करते रहते हैं |

ऐसे में उनके लाइफ में कोई परेशानी आ जाए तो जिन्दगी से ही शिकायत करने लग जाते हैं ऐसे attitude से कोई भी आगे नहीं बढ़ सकता है |

इसीलिए ऐसी बातें ना बोले की मेरे ही साथ ऐसा क्यों होता है बल्कि ये बोले की ये गलती मै दोबारा नहीं करूँगा |

शब्दों का सही से चुनाव करने से हम नेगेटिव बातों को भी पॉजिटिव तरीके से बोल सकते हैं |

Also Read : The Selfish Gene Book Summary In Hindi

Lesson.9 : Associate With Positive People

सबसे पहले अगर आपको कोई एक्शन लेना है तो हमेशा पॉजिटिव लोगो के साथ ही समय बिताए, उनसे दोस्ती करें क्योकि यही पॉजिटिव लोग हमारे भविष्य को प्रभावित करते हैं |

दोस्तों हमारे समाज में आपको दो तरह के और लोग मिलेंगे : Toxic People And Nourishing People.

टॉक्सिक लोग हमेशा नेगटिव बाते करते रहते हैं वे खुद तो बर्बाद रहते हैं दूसरो को भी बर्बाद कर देते हैं वहीँ nourishing लोग हमेशा पॉजिटिव रहते हैं वे हमेशा लोगो का भला चाहते हैं और सबका साथ देते हैं |

आपको सही रास्ता दिखाते हैं हमेशा खुश रहते हैं ऐसे लोगो से ही आपको दोस्ती करनी चाहिए

Lesson.10 : Confront Your Fear And Grow

कई लोग पूरी जिन्दगी डर-डर के जीते हैं वे कभी भी उस fear का सामना नहीं करते हैं इसीलिए हमेशा पीछे रह जाते हैं कुछ सामान्य तरह के डर हम सभी में होते हैं जैसे पब्लिक स्पीकिंग का डर, जॉब चेंज करने का डर, कुछ नया बिज़नस करने का डर इत्यादि |

अगर इस डर को भगाना है तो उठो और अपने इस डर का सामना करो | दोस्तों ये डर सिर्फ आपके दिमाग की उपज है असल में इसका कोई वजूद ही नहीं है यदि पब्लिक स्पीकिंग से डरते हैं तो किताबे पढ़िए, दोस्तों से ग्रुप में बाते करें, अपने कॉलेज या ऑफिस में हर एक्टिविटी में भाग लें |

बाकी के सभी डर को भी इसी तरह से दूर करने के अनेको तरीके हैं उस काम को करने की कोशिश करो जिनसे डर लगता है धीरे-धीरे कदम बढाओ और हर स्टेज में सुधार करते जाओ

Lesson.11 : Get Out There And Fail

बहुत से लोग कुछ नही कर पाते हैं क्योकि वे असफलताओं से डरते हैं वे सोचते हैं की यदि वे fail हो गये तो क्या होगा? उन्हें लगता है की दुनिया उनका मजाक बनाएगी उनकी आलोचना करेगी |

ऐसे में वे कभी भी अपने कम्फर्ट जोन से बाहर नहीं निकल पाते हैं सालो साल एक ही कंपनी में जॉब करते रहते हैं कुछ नया करने की नहीं सोचते हैं लेखक ने इसका नया तरीका बताया है की काम शुरू करो और खुद को असफल होने दो और फिर उसे बार-बार करो |

थॉमस एडिसन की तरह भले ही हजार बार असफल हो जाओ क्योकि हर असफलता आपको सफलता की तरह ले जाएगी | जब आप इस मानसिकता से काम करोगे तो कभी भी fail नहीं होंगे |

Also Read : Modern Romance Book Summary In Hindi

Lesson.12 : Networking That Gets Results

सफलता पाने के लिए नेटवर्किंग भी काफी जरुरी होता है यदि आप अपने सर्किल के लोगो से जुड़ जाए तो वे आपको काफी आगे बढ़ा देते हैं ऐसे में आपको अच्छे मेंटर मिल सकते हैं अच्छे पार्टनर भी मिल सकते हैं और बिज़नस के लिए क्लाइंट्स भी मिल सकते हैं |

यदि नेटवर्क बनाना कठिन लगता है तो शुरुआत लोगो की मदद करने से करो | पहले दूसरो की मदद करो इससे उनका आपके लिए ट्रस्ट बनेगा | फिर वे खुद ही सफलता के दरवाजे खोल देंगे |

Final Word :

तो दोस्तों आपको Attitude is everything बुक की ये summary सुनकर/पढकर काफी कुछ attitude के बारे में जानने को मिला होगा की आपको अपना attitude कैसा रखना है | मेरा सुझाव है की एक बार इस किताब को अवश्य कम्पलीट पढ़े |

Vikram mehra

मेरा नाम विक्रम मेहरा है मै उत्तराखंड का रहने वाला हु मैंने B.sc (PCM) से की हुई है और मुझे टेक्नोलॉजी, साइंस और लोगो को अपने ऑनलाइन माध्यम से शिक्षा देना बहुत पसंद है मेरा मकसद ऑनलाइन माध्यम से लोगो तक इनफार्मेशन पहुचाना है और साथ ही मुझे मूवीज देखना, घूमना बहुत पसंद है |

Leave a Reply