Barking Up The Wrong Tree Book Summary In Hindi By Eric Barker

दोस्तों लाइफ हमें कभी कभी ऐसा लगता है की हम कहीं फंस से गये हैं जहाँ से निकलना मुश्किल हो गया है लगता है की लाइफ रुक सी गयी है अब हम आगे नही बढ़ पाएंगे |

ऐसा हमारे साथ इसीलिए होता है क्योकि हमने अपने लाइफ में कुछ ऐसा गलत निर्णय लिए होते हैं जिसका नतीजा हमे भुगतना पड़ता है हम ऐसे काम को करते हैं जिसमे ना ही हमारा इंटरेस्ट होता है और ना ही हमारा टैलेंट होता है |

चाहे कितनी भी कोशिशे कर ले फिर भी हमे सफलता नहीं मिलती है तो इसीलिए दोस्तों ये किताब आपके लिए काफी जरुरी है जिसे पढ़कर आप जान पाओगे की लाइफ में अच्छा goal कैसे बनाने चाहिए और एक सही निर्णय कैसे लेना चाहिए |

Also Read : Getting To YES Book Summary In Hindi

Barking Up The Wrong Tree Book Summary In Hindi | Barking Up The Wrong Tree Audiobook In Hindi

(1). High Grades VS Low Grades (Barking Up The Wrong Tree Book In Hindi)

दोस्तों स्कूल और कॉलेज में जो छात्र ज्यादा मार्क्स लाते हैं जरूरी नहीं है की वे आगे जाकर सबकुछ अचीव कर ले| क्योकि उन्हें सिर्फ किताबी कीड़ा बनने की लगी रहती है उन्हें सिर्फ ये सिखाया जाता है की सिर्फ अच्छे मार्क्स लाने है और यही तुम्हारा लक्ष्य है |

मेहनत करना कोई बुरी बात नहीं है लेकिन इससे स्टूडेंट के अंदर की क्रिएटिविटी खत्म हो जाती है वे बस रट्टा लगाने के आलावा कुछ और नहीं कर पाते हैं और ना ही उनके पास कुछ और try करने का समय रहता है |

इसके विपरीत कम मार्क्स लाने वाले छात्र अलग-अलग एक्टिविटी में involve रहते हैं जिससे उनका नेटवर्क बढ़ जाता है उन्हें लाइफ में कई तरह के अनुभव मिलते हैं वे लाइफ में failure का भी सामना करना पड़ता है जिसकी उन्हें आदत हो जाती है |

जिससे आने वाले समय में अगर उन्हें 2-3 असफलता मिल भी जाए तो वे घबराते नहीं हैं बल्कि bounce-back करना जानते हैं |

इसी तरह से ज्यादा मार्क्स वाले आगे जाकर डॉक्टर, इंजिनियर इत्यादि बनते हैं और कम मार्क्स लाने वाले बच्चे इंटरप्रेन्योर, बिजनेसमैन बनते हैं और फिर ज्यादा मार्क्स लाने वालो को अपनी कंपनी में hire करते हैं |

(2). Extroverts, Introverts And Ambiverts (Barking Up The Wrong Tree Summary In Hindi)

Extrovert लोग लाइफ में कुछ भी करने के लिए आगे रहते हैं वे नेटवर्क बनाने में माहिर होते हैं वे सभी से बात करते हैं और दोस्ती बनाने में रूचि रखते हैं ऐसा व्यवहार उनके बिज़नस के लिए अच्छा रहता है |

वही दूसरी तरफ introvert लोग ज्यादा खुले स्वभाव के नहीं होते हैं और ना ही ज्यादा दोस्त बनाते हैं वे अकेले में रहना पसंद करते हैं इसी कारण वे अपने काम में एक्सपर्ट रहते हैं लेकिन उस स्किल को वे market नहीं कर पाते हैं |

इसीलिए हमे कोशिश करनी चाहिए की हमारे अंदर दोनों ही पर्सनालिटी होनी चाहिए अर्थात हमे ambivert पर्सनालिटी का होना चाहिए |

क्योकि परिस्थिति के हिसाब से हमे अकेले काम करने की भी जरूरत होती है तो सभी के साथ बातचीत और काम करने की भी जरूरत होती है जैसे बहत से खिलाडी extrovert होते तो है लेकिन जब वे प्रैक्टिस करते हैं तो वे introvert हो जाते हैं जिससे उनके काम में परफेक्शन आता है |

Also Read : The psychology of money book summary in hindi

(3). Practice, Practice And Practice (Barking Up The Wrong Tree Audiobook In Hindi)

दोस्तों चाहे कोई कितना भी टैलेंटेड क्यों ना हो जब तक वो उस पर काम नहीं करेगा तब तक उसके इस टैलेंट का कोई फायदा नहीं है मान लो कोई सिंगर जिसकी आवाज बहुत अच्छी है लेकिन अगर वो सालो तक रियाज नहीं करेगा तो उसके उस आवाज का कोई फायदा नहीं है |

इसीलिए कई बर ये भी कहा जाता है की टैलेंट से ज्यादा तजुर्बा बहुत काम आता है अगर कोई इंसान एक ही काम को सालो तक करता है तो वह उस काम में एक्सपर्ट बन जाता है |

कोई अगर सिंगर, डांसर, राइटर, एक्टर कुछ भी बनना चाहता है तो उसे सिर्फ प्रैक्टिस-प्रैक्टिस और सिर्फ प्रैक्टिस ही करनी पड़ेगी तभी जाकर वो अपने काम में एक्सपर्ट होगा |

इसीलिए अगर किसी भी काम को करना है तो उसे बीच में ही नहीं छोड़ना है |

(4). The WGNF Formula For Success (Barking Up The Wrong Tree Audiobook Summary In Hindi)

जब हम लाइफ में अपने गलत निर्णयों के चलते सफल नहीं हो पाते हैं जिसकी वजह से हमे असफलता मिलती है और हम कभी भी खुश नहीं रह पाते हैं जिसके लिए लेखक ने goal बनाने के लिए WGNF नाम का एक फार्मूला बनाया है :

W – Winnable : ऐसा goal बनाने की सोचो जिसमे आप जीत हासिल कर सकते हो क्योकि आपने देखा होगा की जो लोग गेम में हार जाते हैं वे उस गेम को छोड़कर चले जाते हैं इसीलिए अपने टैलेंट के हिसाब से अपने goal decide करना चाहिए |

G – Goal Based : आपकी पूरी लाइफ ही एक goal based होनी चाहिए| आपका goal एक दिन का भी हो सकता है, एक महीने, एक साल या पूरे जीवनभर का भी हो सकता है केवल पैसो के लिए goal मत बनाओ उसके अलावा भी जीवन में बहुत कुछ है |

N – Novelty Ridden : आप जो भी goal बनाते हो उसमे कुछ ना कुछ नयापन होना चाहिए अपने goal को अचीव करने के लिए आपको हमेशा कुछ ना कुछ नया सीखना चाहिए जिससे आपको लाइफ में बोरियत नहीं होगी |

F – Feedback : फीडबैक लेना बहुत जरुरी होता है हमेशा फीडबैक लेते रहना चाहिए जिससे आपको ज्ञात होता रहेगा की आप अपने goal को पाने के लिए सही दिशा में जा रहे हो की नहीं |

Also Read : Start with WHY book summary in hindi

(5). The WOOP Rule For Decision-Making (Barking Up The Wrong Tree Book By Eric Barker)

जब हम लाइफ में एक अच्छा निर्णय नहीं ली पाते हैं तो जिसका खामियाजा हमे झेलना पड़ता है जिसके लिए लेखक ने WOOP नाम का फार्मूला बनाया है :

W – Wish : सबसे पहले आपको ये देखना है की आप अपनी लाइफ में क्या हासिल करने की विश रखते हो |

O – Outcome : इसके बाद आपको ये देखना है की आपके उस विश का क्या outcome निकलता है मतलब की उस काम से आपको क्या मिलेगा |

O – Obstacle : इसके बाद आपको ये देखना है की उस विश को पाने के रास्ते में क्या-क्या मुश्किलें आई हैं |

P – Plan : आखिरी में आपको उन मुश्किलों को दूर करने के लिए प्लान बनाना चाहिए |

तो दोस्तों इन चार तरह के स्टेप को फॉलो करके आप कोई भी कठिन निर्णय ले सकते हो |

(6). HASL : Rule For Happy Life (Barking Up The Wrong Tree Audiobook By Eric Barker)

दोस्तों अगर आपको ये पता करना है की आपकी लाइफ सक्सेसफुल है की नहीं तो इन चार चीजो से पता लगा सकते हैं :

Happiness : आप ये देखिये की क्या आपको अपना काम करने में ख़ुशी मिलती है की नहीं?

Achievement : आपने जिन्दगी में अभी तक क्या हासिल किया है?

Significance : आपने जो कुछ भी हासिल किया है उसका क्या महत्व है? उससे लोगो को क्या फायदा है?

Legacy : जब आप इस दुनिया से चले जाएँगे तो लोगो को क्या देकर जाओगे? लोग आपको एक भले आदमी के रूप में या फिर बुरे आदमी के रूप में याद रखेंगे |

Also Read : Mindset book summary in hindi

Final Word :

तो दोस्तों मै उम्मीद करता हु की आपको barking up the wrong tree बुक की summary काफी पसंद आई होगी जिसमे आपने पढ़ा की कैसे आपका एक गलत निर्णय आपकी लाइफ बर्बाद कर सकता है और एक अच्छा निर्णय आपकी लाइफ बना सकता है |

Vikram mehra

मेरा नाम विक्रम मेहरा है मै उत्तराखंड का रहने वाला हु मैंने B.sc (PCM) से की हुई है और मुझे टेक्नोलॉजी, साइंस और लोगो को अपने ऑनलाइन माध्यम से शिक्षा देना बहुत पसंद है मेरा मकसद ऑनलाइन माध्यम से लोगो तक इनफार्मेशन पहुचाना है और साथ ही मुझे मूवीज देखना, घूमना बहुत पसंद है |

Leave a Reply