You are currently viewing Essay On Mobile Addiction Hindi | मोबाइल की लत पर निबन्ध

Essay On Mobile Addiction Hindi | मोबाइल की लत पर निबन्ध

दोस्तों इस टॉपिक में हम बात करेंगे मोबाइल की लत के बारे में और जानेंगे की कैसे यह समस्या हमारे जीवन में प्रभाव डाल रही है| Mobile Addiction hindi का यह टॉपिक इस बारे में है की कैसे मोबाइल और ऐसे डिजिटल गैजेट्स के पीछे आज का यूथ जा रहा है |

मेरा मानना है की मोबाइल किसी भी तरह से इतना हानिकारक नहीं है और न ही इससे किसी को कोई बीमारी हो रही है लेकिन लोग इस चीज के इतने आदी हो गये हैं की उन्हें इसके आलावा कोई दूसरी चीज नहीं दिखाई देती है |

10 Lines Essay on mobile addiction hindi : मोबाइल लत की समस्या पर निबन्ध

सबसे पहले इसकी शुरुआत करेंगे की कैसे मोबाइल की लत आज के समय लोगो को हो गयी है और यह लत किस तरह हावी होता है |

  1. मोबाइल की लत आजकल के समाज में एक चिंता का विषय बन चूका है मोबाइल फ़ोन की लत पड़ना जितना आसान है इससे छुटकारा पाना उतना ही मुश्किल है दुनिया भर में लाखो लोग मोबाइल फ़ोन के आदी हो चुके हैं मोबाइल फ़ोन हमारे जीवन का अभिन्न अंग बन चूका है इसके अभाव में हमारे कम रुक जाते है |
  2. जब कोई व्यक्ति खुद को अपने मोबाइल से दूर नहीं रख पाता, इस स्थिति को मोबाइल की लत कह सकते हैं मोबाइल का अविष्कार हमे सशक्त बनाने के लिए किया गया था लेकिन यह अब हम पर हावी होने लगा है |  
  3. इसके माध्यम से हम दुनिया भर में किसी से भी बात कर सकते हैं यह हमे उन सभी प्रकार की जानकारी प्राप्त करने में सक्षम बनाता है जिनकी हमे आवश्यकता है और मनोरंजन का एक बड़ा स्रोत भी है स्मार्ट फ़ोन हमे गेम खेलने, पढाई करने और ऑनलाइन शौपिंग करने में सक्षम बनाता है |
  4. यह हमे फिल्मे देखने, फोटो खीचने, म्यूजिक सुनने, इन्टरनेट पर सर्फ करने और विभिन्न अन्य कामो का आनन्द लेने में सक्षम बनाता है | अत्यधिक उपयोगिता के कारण हमे इसकी लत लगती जा रही है जो हमारे लिए हानिकारक हो सकता है |
  5. जब से इन्टरनेट के नेटवर्क में सुधार हुआ है और 4G से 5G टेक्नोलॉजी का विस्तार हुआ है तब से मोबाइल का इस्तेमाल करने वाले काफी हो गये है और इन्टरनेट का उपयोग काफी अच्छे स्तर पर होने लगा है जिसमे मोबाइल का काफी योगदान है |
  6. हम लोगो का अब 90% काम मोबाइल से ही हो जाता है हमे किसी दुसरे की मदद लेने की जरूरत नहीं पड़ती है हमे चाहे बिजली का बिल भरना हो, रिचार्ज करना हो, ऑनलाइन बुकिंग करनी हो, ऑनलाइन अपडेट चेक करने हो, किसी को कोई मेल या मेसेज भेजना हो ये सारी चीजे हम मोबाइल की मदद से कर सकते है |
  7. इन सारी चीजो को करने के लिए हमारे पास मोबाइल के अलावा एक अच्छा सा नेटवर्क की सुविधा होनी चाहिए जिससे हम इन्टरनेट का इस्तेमाल कर सके |
  8. वैसे भी हमारे देश में डिजिटल इंडिया को काफी प्रमोट किया गया और सरकार की पहल थी की लोग देश के कोने कोने से इन्टरनेट से जुड़े और जागरूक हो जिसके लिए मोबाइल और कंप्यूटर जैसे गैजेट्स से लोग काफी जुड़ रहे हैं |
  9. लेकिन यह सुविधा कब लत में बदल गयी इस बारे में किसी ने नहीं सोचा था आज के समय में बच्चे सबसे ज्यादा इस लत से जूझ रहे हैं |
  10. मोबाइल की लत का हमारे शरीर के लिए भी काफी नुकसानदेह है क्योकि इसकी लत कई गंभीर समस्याओ का मुख्य कर्ण बन सकती है जैसे व्यक्ति में चिडचिडापन का होना, हमेशा सिर दर्द की समस्या, आँखों के सम्बन्धित समस्या, नींद का ना आना, हानिकारक रेडिएशन से होने वाली समस्या जैसे रोग हो जाते है जो हमारी मेंटल हेल्थ को भी ख़राब कर सकती है |
essay on mobile addiction hindi
Photo by MART PRODUCTION from Pexels

Disadvantages Of Mobile Addiction : मोबाइल की लत से होने वाले नुकसान

अगर मोबाइल की लत की बात करे तो इसके नुकसान हो नुकसान है क्योकि कोई भी चीज अधिक मात्रा में सही नहीं होती है उसका हमेशा से ही नुकसान होता है |

जब से पूरे दुनिया में लॉकडाउन की स्थिति पैदा हुई तब से लोग घर में ही थे और लोग के पास करने को कुछ नहीं था तब सिर्फ एक मोबाइल ही एक ऐसा साधन था जो उनकी समस्या को दूर करने में मदद कर सकता था |

लेकिन मुझे लगता है की लॉकडाउन के दौरान से ही सबसे ज्यादा मोबाइल की लत लग गयी वो भी बच्चो में, बच्चे स्कूल नहीं जा सकते थे इसके बदले उन्हें ऑनलाइन क्लास अटेंड करनी पड़ती थी और बहुत से बच्चे क्लास के बहाने दूसरी चीजो में पड़ गये थे और वो था गेमिंग |

आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस का भी इस समस्या में काफी हाथ है भले ही AI ने काफी काम आसान कर दिए है लेकिन आपने देखा होगा की जब भी आप अपने मोबाइल में इन्टरनेट का इस्तेमाल करते हुए जो भी अपनी पसंदीदा चीजे सर्च करते है या फिर देखते है तो यह सिस्टम आपको अगली बार उसी से सम्बन्धित चीजे दिखाता है और आप उसी में आप डूबते चले जाते है आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस का सिस्टम आपकी एक्टिविटी को ट्रैक करके आपको वही चीजे ऑफर करता है यही टेक्नोलॉजी का जाल है |

मोबाइल की लत का लोगो के जीवन में इतना प्रभाव पड़ा की लोग एक दुसरे को समय ही नहीं से रहे है वो लोग अपने मोबाइल में हो डूबे पड़े है एक एवरेज इंसान 24 घंटे में 5 से 6 घंटे या हो सकता है उससे ज्यादा समय मोबाइल में ही बिताता है |

बहुत से लोग जब लॉकडाउन में जॉब पर नहीं जा सके तो उन्हें भी वर्क फ्रॉम होम उन्हें करना पड़ा उनका सारा काम कंप्यूटर और मोबाइल से ही होता था जिससे पूरा दिन इंसान मोबाइल से कॉल करने में ही रहता था अपने काम के सम्बन्धित, उसकी 8 घंटे की नौकरी 12 घंटे की ही गयी है क्योकि वर्क फ्रॉम होम के अपने फायदे भी होते हैं तो नुकसान भी हैं और यही परेशानी उनकी लत में कब बदल सकती है ये किसी को नहीं पता |

आज के समय में हम अपना सारा काम मोबाइल से ही कर लेते है क्योकि स्मार्ट फ़ोन इतने एडवांस हो गये है की कंप्यूटर का आधे से ज्यादा काम मोबाइल से ही हो जाता है कभी कभी इन सारी चीजो में हम अपनी प्राइवेसी खो देते है क्योकि हमारी ऑनलाइन दुनिया में एक पहचान बन जाति है और कही न कही हमारी पहचान और इनफार्मेशन एक डाटा के रूप में सेव हो जाती है जो हमारी प्राइवेसी के लिहाज से सही नहीं है और इससे कोई भी हैकर इसका गलत इस्तेमाल कर सकते हाउ जो साइबर क्राइम को बढ़ावा देते है |

How To Get Rid Of Mobile Addiction : मोबाइल की लत से छुटकारा कैसे पाए

  • ऐसा नहीं है की हम लोग इस परेशानी से छुटकारा नहीं पा सकते है हम सोशल मीडिया, गेमिंग, मूवीज देखने जैसी गतिविधियों के लिए समय निर्धारित कर सकते हैं ताकि अपने अन्य कार्य समय पर कर पाए |
  • इसके जगह हम पेंटिंग, डांस, इंडोर या आउटडोर गेम खेलने जैसी गतिविधियों में अपना समय बिता सकते है या फिर कई ऐसे काम हो सकते हैं जिसमे हम अपने फॅमिली का हाथ बटा सकते हैं जिससे हम मोबाइल की लत से दूर हो सके |
  • अगर हम उचित प्रयास करे तो धीरे धीरे इस समस्या से छुटकारा पा सकते है अगर हम इसका सही प्रकार से उपयोग करते है तो यह हमारा काम आसान कर देता है और हमे इसकी लत लग जाए तो यह हमारा ही उपयोग करने लगता है |
  • मोबाइल का इस्तेमाल उतना ही करो जितना उसकी जरूरत है बाकि के समय कोशिश करो जितना दूर हो सके तो बेहतर होगा |

Also Read : Essay on online education in hindi

Final Words :

दोस्तों Mobile Addiction in hindi का यह टॉपिक काफी जानकारी से भरा है इस टॉपिक में काफी चीजो का खुलासा है जो इस समस्या से सम्बन्धित है |

आज के समय हमे किसी भी तरह से इस लत से दूर होना है ये आदत हमारी लाइफ में काफी दखलंदाजी कर रहा है हम अपने आप को समय नहीं दे पा रहे है इसीलिए इन समस्या पर हमेशा ध्यान दीजियेगा |

अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी तो आप हमे कमेंट करके बता सकते है |

FAQs..

बच्चो को मोबाइल की आदत कैसे छुड़ाए?

बच्चो को ऐसे इंडोर और आउटडोर गेम में busy रखो जिसमे बच्चे ज्यादा इंटरेस्ट लेते हैं और उन्हें इस लत के बारे में बार बार जागरूक करते रहो उन्हें इसके दुष्परिणाम के बारे में बताते रहो |
और ध्यान रहे की उनके दिमाग में किसी तरह का भय न फैलाए जिससे की पता चले की मोबाइल की लत के नुकसान बताने के चक्कर में बच्चे पर मेंटली असर हो |

भारत में मोबाइल की लत कितनी ज्यादा है?

जब से लॉक डाउन की स्तिथि हुई है तब से इंडिया में लोग के पास करने को कुछ नहीं है तो वो मोबाइल का ही सहारा लेते है और अब जाकर वो उनकी लत बन गयी है ऐसे लोग दिन के 5 से 6 घंटे मोबाइल में ही घुसे रहते हैं |
कई खबरे ऐसे आती हैं की मोबाइल में गेमिंग के चक्कर में बच्चे आत्महत्या तक कर लेते हैं और कई लोगो के साथ साइबर फ्रॉड भी हो जाता है |

Vikram mehra

मेरा नाम विक्रम मेहरा है मै उत्तराखंड का रहने वाला हु मैंने B.sc (PCM) से की हुई है और मुझे टेक्नोलॉजी, साइंस और लोगो को अपने ऑनलाइन माध्यम से शिक्षा देना बहुत पसंद है मेरा मकसद ऑनलाइन माध्यम से लोगो तक इनफार्मेशन पहुचाना है और साथ ही मुझे मूवीज देखना, घूमना बहुत पसंद है |

Leave a Reply