You are currently viewing Essay on online education in hindi | ऑनलाइन शिक्षा पर निबन्ध

Essay on online education in hindi | ऑनलाइन शिक्षा पर निबन्ध

दोस्तों आज के इस टॉपिक में हम आज के दौर में चल रही ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली के बारे में बात करेंगे और जानेंगे की कैसे पिछले कुछ सालो से ऑनलाइन एजुकेशन की तरफ काफी ध्यान दिया जा रहा है |

हमारे देश में ऑनलाइन एजुकेशन तो हाल ही में काफी प्रचलित हुई है लेकिन विदेशो में ऑनलाइन एजुकेशन पहले से ही चला आ रहा है हमारे देश में अभी लोग इस माहौल में ढल रहे हैं जिससे वो भी ऑनलाइन क्षेत्र में अपना दबदबा बना लेंगे |

10 Lines Essay on online education in hindi : ऑनलाइन एजुकेशन पर निबंध 10 लाइन में

  1. शिक्षा हमारे जीवन में एक महत्वपूर्ण योगदान रहा है शिक्षा ही एक ऐसा माध्यम हा जो हमारा भविष्य बनाने में मदद करती है और अगर हम शिक्षा अच्छे से ग्रहण ना करें तो इससे हमारा भविष्य भी ख़राब हो जाता है |
  2. ऑनलाइन शिक्षा की बात करें तो ये प्रक्रिया इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से होती है जिसे हम डिजिटल प्लेटफार्म से इस्तेमाल करते हैं |
  3. ऑनलाइन माध्यम से स्टूडेंट के जीवन में एक नया अनुभव जुड़ गया है ऑनलाइन शिक्षा मुख्य रूप से एनीमेशन, विडियो, ऑडियो और इमेजेज के द्वारा की जाती है |
  4. कोरोना महामारी की वजह से पूरी दुनिया लॉकडाउन की स्थिति में आ गयी थी जिससे सारे कामकाज रूक गये थे और लोगो को वर्क फ्रॉम होम का जरिया अपनाना पड़ा और सारे काम जो ऑनलाइन हो सकते थे वो ऑनलाइन कंडक्ट कराने पड़े तब से शिक्षा के क्षेत्र में भी हमारे देश में ऑनलाइन प्रणाली को अपनाया गया |
  5. दुनियाभर में 1.2 बिलियन से ज्यादा स्टूडेंट्स स्कूल, कॉलेज से बाहर हैं अतः शिक्षा इ लर्निंग के माध्यम से काफी बढ़ गयी है साडी क्लासेज, एग्जाम, प्लेसमेंट, एडमिशन, मेरिट और प्रैक्टिकल सारे काम ऑनलाइन हो रहे हैं जिसे डिजिटल प्लेटफार्म से कराया जा रहा है |
  6. ऑनलाइन माध्यम से सिखने से सबसे बड़ा फायदा ये है की इससे सिखने से जानकारी और सूचनाओ को अधिक समय तक याद रखा जा सकता है और इसमें समय की लागत भी कम होती है |
  7. पूरी दुनिया में जितने भी स्टूडेंट हैं वो इस महामारी के कारण स्कूल और कॉलेज बंद होने से प्रभावित हुए हैं जिससे उन्हें ऑनलाइन माध्यम का उपयोग करना पड़ा वैसे ये माध्यम बुरा नहीं है लेकिन स्कूल और कॉलेज में अपने सहपाठियों के साथ माहौल में रहकर पड़ने के बहुत फायदे होते है जो एक स्टूडेंट के लिए बहुत जरुरी है |
  8. ऑनलाइन एजुकेशन की ज्यादा डिमांड होने की वजह से कई ऑनलाइन लर्निंग प्लेटफार्म अपनी ट्रेनिंग क्लासेज की सेवाओ को मुफ्त भी दे रहे हैं चाहे वो अपने विडियोक्लासेज के माध्यम से हो या स्टडी मटेरियल के माध्यम से, जिसमे BYJU’S और Unacademy जैसे टॉप के प्लेटफार्म अपनी भूमिका निभा रहे हैं |
  9. ऑनलाइन प्लेटफार्म के क्षेत्र में बहुत सी समस्या भी आती हैं जिन्हें हमे समझना होगा और दूर करना होगा इन्टरनेट एक्सेस और इसके संसाधन के बिना स्टूडेंट ऑनलाइन लर्निंग सुविधाओ का लाभ नहीं उठा सकते हैं |
  10. रिसर्च के अनुसार सामान्य क्लासेस में सिर्फ 8-10 % ही छात्र जानकारी को याद कर पाते हैं जबकि ऑनलाइन माध्यम से एवरेज 25-50% छात्र यह जानकारी याद रख पाते हैं जो की एक बहुत बड़ा अंतर हैं |
  11. जब से इन्टरनेट का विस्तार हुआ है और लोग कंप्यूटर और मोबाइल जैसे उपकरणों का इस्तेमाल भी बहुत ज्यादा कर रहे हैं जिससे सारे काम काज लोग इन्ही की मदद से कर रहे हैं आजकल के बच्चे अब कंप्यूटर और मोबाइल से ही अपनी क्लासेज अटेंड कर रहे हैं नौकरीपेशा लोग अपने मीटिंग भी अटेंड कर रहे हैं |
  12. स्टूडेंट ऑनलाइन सिखने में अधिक सक्षम होते जा रहे है ऑनलाइन शिक्षा के माध्यम से सामान्य शिक्षा की तुलना में 40-60% तक समय की बचत भी हो रही है स्टूडेंट अपने अनुसार कही से भी कभी भी पढ़ सकते हैं |
  13. ऑनलाइन एजुकेशन ने शिक्षण को बहुत की आसान बना दिया है क्योकि स्टूडेंट्स को नियमित समय पर पढने और बाकी के काम करने की आजादी होती है लेकिन ऐसा करने के लिए छात्रो के अंदर रूचि भी होनी चाहिए |
essay on online education in hindi
essay on online education in hindi

Advantages of online education in hindi : ऑनलाइन शिक्षा के लाभ

  • ऑनलाइन शिक्षा में टीचर और स्टूडेंट अपने सहूलियत के अनुसार वक्त का चुनाव कर ऑनलाइन जुड़ सकते हैं |
  • ऑनलाइन एजुकेशन के अपने कई फायदे हैं जैसे स्टूडेंट्स को कही जाने की जरूरत नहीं है, घर बैठे विश्वस्तरीय शिक्षा, कम कीमत, समय का लचीलापन, 24/7 पहुच, विभिन्न पाठ्यक्रम अधिक विकल्प, ग्राफ़िक्स के जरिये अध्धयन जैसी सारी बातें ऑनलाइन एजुकेशन के लाभदायक हैं |
  • ऑनलाइन माध्यम से गलतियाँ होने के मौके भी कम होते हैं और अगर हो भी जाये तो मौके पर ही सुधार सकते हैं |
  • जब से ऑनलाइन एजुकेशन को बढ़ावा मिला है तब से एग्जाम भी ऑनलाइन हो रहे है जिसमे छात्रो को पढाई करने का मौका मिल जाता हैं नहीं तो पहले एक्सम सेण्टर तक आने जाने में काफी समय लग जाता था |
  • ऑनलाइन माध्यम से फ्रॉड होने का कोई विकल्प भी नहीं होता है कोई एग्जाम देने के दौरान या फिर मेरिट के दौरान कोई भी गड़बड़ी नहीं कर सकता है |
  • ऑनलाइन माध्यम से पढाई के दौरान स्टूडेंट अपने तैयारी भी ऑनलाइन कर सकता है चाहे प्रैक्टिस पेपर देना हो या फिर कोई भी अन्य काम करना हो |

Disadvantages of online education in hindi : ऑनलाइन एजुकेशन के नुकसान

  • ऑनलाइन शिक्षा के अपने नुकसान भी हैं जैसे बिना आत्म अनुशासन या अच्छे संगठनात्मक कौशल के आभाव में स्टूडेंट पढाई में पिछड़ सकते हैं |
  • स्टूडेंट बिना किसी शिक्षक और सहपाठियों के अकेला महसूस कर सकते हैं परिणामस्वरूप वे अवसाद से पीड़ित हो सकते हैं छात्रो के शारीरिक और मानसिक स्वस्थ्य के लिए अच्छा नहीं है
  • ख़राब इन्टरनेट कनेक्शन या पुराने कंप्यूटर पाठ्यक्रम एक्सेस करने वाली सामग्री को निराशाजनक बना सकते हैं भारत में अभी भी बेहतर इन्टरनेट कनेक्टिविटी का आभाव व् इन्टरनेट की कम गति ऑनलाइन शिक्षा की राह में सबसे बड़ी चुनौती है |
  • अभी भी भारत के दूर दराज के गावों और कस्बो में छात्रो को इन्टरनेट और कंप्यूटर एक्सेस करने में बहुत दिक्कत आ रही है क्योकि इससे पहले उन्होंने कभी ऐसे संसाधनों का इस्तेमाल नहीं किया और ऐसे क्षेत्र में इन्टरनेट की काफी दिक्कत भी होती है |
  • ऑनलाइन क्लासेज में प्रैक्टिकल या लैब वर्क करना मुश्किल होता है जो की एक बहुत बड़ी दिक्कत है |
  • भारत के ग्रामीण क्षेत्र में शहरी क्षेत्र की तुलना में बिजली व्यवस्था का काफी आभाव है जो इन्लिने शिक्षा में रुकावट बन सकती है |

ऑनलाइन शिक्षा के बुनियादी ढाँचे को सुधारने के लिए भारत सरकार ने विभिन्न योजनाओ और पहल की शुरुआत की है जैसे सौभाग्य योजना (प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना), SWAYAM {(स्टडी वेब्स ऑफ़ एक्टिव लर्निंग फॉर यंग एस्पायरिंग माइंड) एक एकीकृत मंच जो 9 वी – 12 वी से लेकर ग्रेजुएशन स्तर तक ऑनलाइन पाठ्यक्रम प्रदान करता है}, NDL (राष्ट्रीय डिजिटल लाइब्रेरी), डिजिटल इंडिया इत्यादि |

इतना ही नहीं कई NGO और लगभग सभी निजी संस्थान ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली को सुधारने के लिए काम कर रही है अब समय है स्टूडेंट और उनके माता पिता के लिए की ऑनलाइन शिक्षा का सही दिशा में सिमित और सही इस्तेमाल हो

Also read : Essay on unemployment in hindi

Conclusion (निष्कर्ष) :

दोस्तों हमने ऑनलाइन एजुकेशन के फायदे, नुकसान और कैसे ऑनलाइन एजुकेशन जरुरी हो गया है इस सारी बातों पर ध्यान दिया है और हमे ये देखना है की कैसे इसमें सुधार किया जा सके और लोगो स्टूडेंट्स तक हम अपनी बातों को पंहुचा सके |

अगर आपको इस टॉपिक के सम्बन्धित कुछ भी बोलना हो तो आप अपनी राय रख सकते हैं |

FAQs.

  1. ऑनलाइन एजुकेशन कितना जरुरी है आज के समय में?

    ऑनलाइन एजुकेशन आज के समय में बहुत जरुरी हो गया है क्योकि सारी चीजे ऑनलाइन हो चुकी है और इन्टरनेट का विस्तार भी बहुत हो गया है जिससे लोग एक दुसरे से कनेक्ट हो पा रहे हैं |

  2. ऑनलाइन एजुकेशन का क्या भविष्य है?

    ऑनलाइन एजुकेशन का भविष्य बहुत उज्ज्वल है आने वाले समय में और भी ज्यादा जोर दिया जाएगा ऑनलाइन शिक्षा में |

  3. अभी तक ऑनलाइन एजुकेशन कितना प्रभावी रहा है?

    ऑनलाइन एजुकेशन भारत में जब से ज्यादा प्रचलित हुआ है तब से स्टूडेंट्स का रुझान काफी रहा है और स्टूडेंट्स काफी जागरूक रहे हैं और उन्हें काफी नए आयाम मिले हैं

  4. ऑनलाइन एजुकेशन से स्टूडेंट्स के करियर में कोई बुरा प्रभाव पड़ा है या नहीं?

    ऑनलाइन एजुकेशन से किसी भी छात्र के करियर पर कोई बुरा प्रभाव पड़ने का कोई मतलब नहीं होता है वो सिर्फ स्टूडेंट्स पर निर्भर करता है की वो इसका कैसे उपयोग करता है |

Vikram mehra

मेरा नाम विक्रम मेहरा है मै उत्तराखंड का रहने वाला हु मैंने B.sc (PCM) से की हुई है और मुझे टेक्नोलॉजी, साइंस और लोगो को अपने ऑनलाइन माध्यम से शिक्षा देना बहुत पसंद है मेरा मकसद ऑनलाइन माध्यम से लोगो तक इनफार्मेशन पहुचाना है और साथ ही मुझे मूवीज देखना, घूमना बहुत पसंद है |

Leave a Reply