You are currently viewing Essay on Terrorism in hindi | आतंकवाद पर निबन्ध

Essay on Terrorism in hindi | आतंकवाद पर निबन्ध

हेलो दोस्तों आज के इस टॉपिक Terrorism in hindi में हम बात करने वाले हैं एक ऐसे मुद्दे के बारे में जिससे पूरा विश्व प्रभावित है और यह समस्या इस तरह से अपनी पकड़ बना चूका है की हर कोई इसकी दहशत में है |

हम बात कर रहे है आतंकवाद की जो मानव समाज में एक बीमारी की तरह है और जिसे हमे समय पर जड़ से खत्म करना है अगर यह बीमारी समाज में ज्यादा समय तक रहेगी तो यह मानव जीवन को एक दिन निगल लेगी |

10 Lines Essay on Terrorism in hindi : आतंकवाद की समस्या पर निबन्ध

  1. आतंकवाद दो शब्दों से मिलकर बना है आतंक+वाद, आतंक का अर्थ होता है- भय या डर और वाद का अर्थ होता है- पद्दति |
  2. गैरकानूनी तरीके से समाज को अपने गलत कामो से भयभीत कर देने को आतंकवाद कहते हैं जो लोग इन गतिविधियों से लोगो को भयभीत करते है वे आतंकवादी कहलाते है |
  3. आतंकवादियो का केवल एक ही उद्देश्य होता है सरकार और देश के लोगो में भय उत्पन्न करके अपनी मंशा को पूरी करना और समाज में दहशत फैलाना |
  4. आतंकवाद किसी एक व्यक्ति, समाज अथवा राष्ट्र विशेष के लिए नहीं अपितु पूरी मानव सभ्यता के लिए कलंक है हमारे देश में ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में इसका जहर तीव्रता से फ़ैल रहा है यदि इसे समय रहते रोका नहीं गया तो यह पूरी मानव सभ्यता के लिए खतरा बन सकता है |
  5. आतंकवाद दो प्रकार के होते हैं- राजनितिक आतंकवाद और आपराधिक आतंकवाद, राजनितिक आतंकवाद वह होता है जो अपने स्वार्थ की पूर्ति के लिए जनता में डर फैलाता है और अपराधिक आतंकवाद वह होता है जो अपहरण करके, मर्डर करके, चोरी करके या फिर ऐसे कई गलत अपराध करके पाने इरादे पूरे करते हैं |
  6. आतंकवाद किसी भी देश अथवा संगठन के लिए एक बहुत बड़ा खतरा है आतंकवादी गतिविधियों से देश में अशांति और हिंसा फैलती है |
  7. भारत की बात करे तो यहाँ आतंवाद के फैलने के कई कारण है आतंकवाद की समस्या पिछले एक दशक से शुरू हुई है आज से दस साल पहले छोटे छोटे लूटपाट के मामले सामने आते थे लेकिन आज के समय में यह समस्या बहुत बढ़ गयी है |
  8. आतंकवाद के उत्त्पन्न होने के मूल कारण है गरीबी, बेरोजगारी, भुखमरी और धार्मिक उन्माद |
  9. आतंकवाद को सबसे ज्यादा बढ़ावा धार्मिक कट्टरता से मिलता है लोग धर्मो के नाम पर एक दुसरे का गला काटने से पीछे नहीं हटते हैं इसी के कारण हिन्दू, मुस्लिम, सिख, इसाई आदि धर्मो के नाम अपर बहुत से दंगे फसाद भड़का दिए जाते हैं |
  10. इस तरह के दहशतगर्दी कई समय से अपने मकसद में भी सफल हुए है और जिससे कई जान माल का नुकसान हुआ है इनसे कई बार निपट चुके है और इनके काले कारनामो को बहुत बार रोका गया है लेकिन ये लोग अपने इरादों से बाज नहीं आते है और लगातार ऐसे कामो में सक्रीय रहते हैं |

History of Terrorism in Hindi : आतंकवाद का इतिहास

हमे क्या लगता है की आतकवाद क्या हजारो सालो से है लेकिन ऐसा नहीं है चाहे हम अपने देश की बात करे या पूरे दुनिया की तो आतंकवाद पिछले 20-30 सालो से ही ज्यादा उत्त्पन्न हुआ है उससे पहले आतंकवाद का कोई ज्यादा प्रभाव नहीं था |

इंटरनेशनल लेवल पर आतंकवाद की बाद करे तो इसने कई बड़े बड़े देशो को तक प्रभावित किया है चाहे अमेरिका हो, भारत हो, अफगानिस्तान हो या फिर कई ऐसे छोटे देश जहाँ ऐसे लोगो ने अपना कब्ज़ा किया हुआ है और अपने गलत इरादों को अंजाम देते है |

आतंवाद को हम छोटे लेवल के अपराध के साथ नहीं जोड़ सकते है चाहे चोरी हो, मर्डर हो या फिर कोई फ्रॉड हो हालांकि ये कोई छोटे क्राइम नहीं है लेकिन इन्हें आतंकवाद से नहीं जोड़ सकते है ये ऐसे क्राइम हैं जो एक पर्सनल लेवल पर अपराधी अंजाम देता है लेकिन आतंकवाद जैसा क्राइम इंटरनेशनल लेवल पर अंजाम दिया जाता है जिनका मकसद सिर्फ दहशत फैलाना होता है |

essay on terrorism in hindi
essay on terrorism in hindi

Effect of Terrorism in India : आतंकवाद का भारत पर प्रभाव

भारत कई सालो से आतंकवाद से लड़ रहा है और हमारे देश के लिए यह सबसे बड़ी परेशानी है पिछले 20-25 सालो में भारत में कई आतंकी हमले हो चुके हैं जिससे भारत को काफी नुकसान हुआ है लेकिन हमारे देश ने भी इसका जवाब इन्ही की भाषा में भी दिया है |

अभी हाल ही में हुए पठानकोट का आतंकी हमला हो, पुलवामा का आतंकी हमला हो या फिर 26/11 का बम धमाका हो, इन हमलो ने हमारे देश को हिला कर रख दिया था |

इस तरह के आतंकी संगठन भारत में एक अपने टारगेट किये गये इलाके पर ही ज्यादा हमला करते हैं और वे लोग चाहते हैं की यहाँ हमारा कब्ज़ा हो जाए लेकिन भारत सरकार उन्हें हर बार नाकाम कर देती है |

भारत ने इन आतंकियों का मुह तोड़ जबाव देने के लिए उरी और सर्जिकल अटैक जैसे एक्शन को लिया था जिससे इनके मंसूबे बिखर गये थे |

आतंकवाद को खत्म करने के लिए जाने वाले स्टेप :

  • आतंकवाद एक ऐसी समस्या हो गयी है जो अपने जड़े बिछा चुकी है और इन्हें उखाड़ने के लिए पूरी दुनिया को एक होना पड़ेगा |
  • सबसे पहले हमे ये सोचना चाहिए की कौन लोग हैं जो इन्हें बढ़ावा देते है और इन्हें मोहरा बना रहे है ऐसे लोगो, समाज, संगठन पर हमे कड़ा एक्शन लेना चाहिए |
  • कौन लोग ऐसे आतंकी लोगो के बहकावे में आ जाते है उन्हें इनकी गिरफ्त से हमे निकलना जरुरी है |
  • हमे इनके सभी मंसूबो पर नजर रखनी चाहिए और देखना चाहिए की ये कोई एक्शन का प्लान तो नहीं बना रहे हैं |
  • सरकार को इन्हें मिलने वाली आर्थिक सहायता और मैन पॉवर की मदद को मिलने से तोडना होगा |
  • ऐसे लोगो को अपनी गिरफ्त में लेना होगा जो ऐसे संगठन को संचालित करते है और सपोर्ट करते हैं |
  • हमे यह भी देखना है की कोई देश के अंदर बैठ कर ऐसे लोगो को मदद तो नहीं कर रहा है या फिर हमारी देश की जानकारी उन्हें दे रहा है जिससे उन्हें देश के बारे में पूरी जानकारी मिल जाती है |
  • वैसे हमारे देश की इंटेलिजेंस इस पर काफी अच्छा काम कर रही है और कई बड़े होने वाले अंजामो से भी बचाया है |

Also Read : Essay on cyber crime in hindi

Conclusion (निष्कर्ष) :

हमे जाति, धर्म के आधार पर भेदभाव ना करते हुए हम सभी को मिलकर आतंकवाद को खत्म करने के लिए प्रयास करना चाहिए, आतंकवाद को समय रहते हुए जड़ से नष्ट करने के लिए प्रबल उपाय खोजने चाहिए |

यदि समय रहते आतंकवाद को नहीं रोका जाएगा तो यह हमारे समाज के लिए बड़ी समस्या बन जाएगा, हमारे देश में प्रतिवर्ष 21 मई को आतंकवाद विरोधी दिवस इसीलिए मनाया जाता है |

मैं उम्मीद करता हु की आपकी यह टॉपिक Terrorism in hindi का काफी पसंद आया होगा अगर आपकी कोई राय हो तो आप कमेंट कर सकते है|

FAQs..

आतंकवाद की शुरुआत कब से हुई ?

इस बात का कोई एक जवाब नहीं हो सकता है की इस साल से हुई क्योकि आतंकवाद तो काफी पहले से इस देश में अपना अंजाम देने में लगा हुआ था लेकिन पिछले 15-20 सालो से आतंकवाद काफी सक्रीय हो चूका है |

आतंकवाद का क्या मकसद होता है?

आतंकवाद का सिर्फ एक ही मकसद होता है अपने अंजाम को पूरा करके दहशत फैलाना चाहे किसी मासूम की जिन्दगी बर्बाद हो या फिर जान माल का नुकसान ही ऐसे लोगो को कोई फर्क नहीं पड़ता है |

सीमा पार से होने वाले आतंकवाद का बारे में बताइए ?

हमारे देश में सभी लोग इस बात से वाकिफ हैं की आतंकवाद हमारे देश में कैसे और कहां से फ़ैल रहा है और कौन इनकी मदद करता है |
ऐसे सीमा पार से लगातार होने वाले हमलो का इंडियन आर्मी से बखूबी जबाव दिया है और देते रहते हैं |

आतंकवाद की विशेषताए क्या क्या हैं?

आतंकवाद की सबसे बड़ी विशेषता यह है की समाज से अपने बुरे कामो को अंजाम देने का मकसद और दहशत फैलाना ही आतंकवाद की विशेषता हैं |

Vikram mehra

मेरा नाम विक्रम मेहरा है मै उत्तराखंड का रहने वाला हु मैंने B.sc (PCM) से की हुई है और मुझे टेक्नोलॉजी, साइंस और लोगो को अपने ऑनलाइन माध्यम से शिक्षा देना बहुत पसंद है मेरा मकसद ऑनलाइन माध्यम से लोगो तक इनफार्मेशन पहुचाना है और साथ ही मुझे मूवीज देखना, घूमना बहुत पसंद है |

Leave a Reply