You are currently viewing यूपीएससी की तैयारी कैसे करें 2022 में | How To Prepare For UPSC For Hindi Medium 2022

यूपीएससी की तैयारी कैसे करें 2022 में | How To Prepare For UPSC For Hindi Medium 2022

दोस्तों यूपीएससी एक ऐसा मुकाम है जिसे हर कोई हासिल करना चाहता है और इसके पीछे लाखो स्टूडेंट्स सपना देख रहे हैं की वो भी एक दिन आईएस/आईपीएस ऑफिसर बनेंगे और अपने, फॅमिली और देश का नाम रोशन करेंगे जिसके लिए वे दिन रात कड़ी मेहनत करते हैं| यूपीएससी की तैयारी करना आज के समय ऐसा हो गया है की हर कोई सिविल सर्विसेज में जाना चाहता है लेकिन जिस तरह से कम्पटीशन है एयर लाखो कैंडिडेट आवेदन करते हैं तो यह काफी कठिन हो जाता है |

यूपीएससी 2022 के लिए आवेदन कब, कहाँ और कैसे करे?

अब 2022 में होने यूपीएससी के प्रथम चरण prelim का एग्जाम 5 जून 2022 को होगा और 2022 के पूरे एग्जाम के चरण के लिए एग्जाम के नोटिफिकेशन फ़रवरी के महीने में आ जाएगा और इसी महीने के अंत में फॉर्म भी भरे जाएँगे |

इस पूरे परीक्षा जिसमे Prelim, Mains और अंत में इंटरव्यू होगा जिसका पूरा टाइम टेबल आप यूपीएससी की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर देख सकते हैं |

फॉर्म भरने के लिए आपकी न्यूनतम आयु 21 साल होती है और अधिकतम आयु सीमा आपकी केटेगरी के हिसाब से तय होती है जैसे जनरल केटेगरी के लिए अधिकतम आयु सीमा 31 साल है और ऐसे ही बाकी के केटेगरी के लिए भी निर्धारित है |

यूपीएससी के लिए जनरल केटेगरी के लिए सिर्फ 6 attempt होते हैं और बाकी केटेगरी के लिए थोडा ज्यादा मिलता है |

यूपीएससी के लिए शैक्षिक योग्यता किसी भी विषय से ग्रेजुएशन की डिग्री होनी चाहिए |

हिंदी मीडियम के छात्र यूपीएससी या फिर राज्य स्तरीय सिविल सर्विसेज की तैयारी कैसे करे :

सबसे पहले हिंदी मीडियम के छात्रों को अपने कमजोर पॉइंट पर ज्यादा ध्यान देना होता है जब वे तैयारी करने बैठते हैं तो ज्यादातर छात्र सिर्फ pre के एग्जाम के बारे में ही सोचते हैं लेकिन ज्यादातर मेधावी छात्र जो पहले सफल हो चुके हैं उनका कहना होता है की pre और मेंस दोनों की तैयारी साथ लेकर चलता चाहिए एग्जाम के 2 से 3 महीने पहले से ही कम से कम 40 से 50 mock test की प्रैक्टिस हो जानी चाहिए जब तक आपको खुद पर विश्वास न हो जाए |

pre के दोनों पेपर तो ऑब्जेक्टिव होते है जो सिर्फ कुछ ही टेस्ट प्रैक्टिस से भी तैयारी हो जाती है क्योकि यह सिर्फ qualifying पेपर्स होते है जिसके मेरिट में नंबर नहीं जुड़ते हैं इसीलिए कहते है की pre के साथ साथ मेंस की भी तैयारी साथ साथ में कर लीजिये |

हिंदी माध्यम के छात्रों के लिए और बाकी सभी के लिए टाइम मैनेजमेंट भी काफी जरुरी होता है जिसे हमे देखकर चलना पड़ता है|

यूपीएससी के एग्जाम में सबसे बड़ा रोल होते है आंसर राइटिंग का जो सभी की दिक्कत होती है एयर खास तौर पर हिंदी मीडियम के छात्र इसमें रह जाते हैं क्योकि सामान्य तौर पर हिंदी में लिखने में इंग्लिश के मुकाबले ज्यादा समय लगता है

How To Prepare For UPSC For Hindi Medium 2022
Image by Anastasia Gepp from Pixabay

हिंदी मीडियम के छात्र जो CSAT को नजरअंदाज कर देते हैं उसी में मात खा जाते हैं इसीलिए उस पर भी ध्यान दे सकते हैं |

मेंस में ऑप्शनल विषय का चुनाव बहुत बड़ा फैक्टर है जिसमे सभी को दुविधा होती है ऑप्शनल (वैकल्पिक) विषय का चुनाव आपको शुरूआती समय के दौरान ही कर लेना है |

अब बात करे मटेरियल की तो जैसे की सभी तो पता है की NCERT सभी के लिए रामबाण है और किसी को भी इसे नजरअंदाज नहीं करना चाहिए इसका यूपीएससी में सबसे ज्यादा रोल है इसीलिए शुरुआत NCERT से ही करना चाहिए |

तब जाकर आप किसी भी ऑथर और पब्लिकेशन की स्टैण्डर्ड बुक्स का रेफ़रेन्स ले सकते हैं इससे ज्यादा आपको बुक्स नहीं लेनी है सभी विषय के लिए आप अलग अलग बुक्स चुन सकते हैं |

इसके साथ ही करंट अफेयर का यूपीएससी के एग्जाम में सबसे बड़ा रोल है आपको डेली अखबार को फॉलो करना है और इसके साथ ही आप एक monthly मैगज़ीन को भी फॉलो कर सकते हैं मैगज़ीन आप किसी भी पब्लिकेशन की ले सकते है लेकिन सिर्फ एक ही मैगज़ीन काफी होता है |

अपने नोट्स आप नियमति रूप से बना सकते हैं जो की अभ्यास के लिए काफी मददगार होता है या फिर आप किसी भी अच्छे कोचिंग संस्थान के नोट्स को भी पढ़ सकते हैं लेकिन कोशिश करे तो अपने ही नोट्स से पढ़े |

निरंतर अभ्यास ही सफलता की कुंजी है जिसमे ज्यादातर छात्रो की कमी रह जाती है जिसकी वजह से वे पीछे रह जाते हैं इसीलिए अभ्यास काफी जरुरी हो जाता है |

यूपीएससी के एग्जाम में हिंदी मीडियम के छात्रों को आने वाली परेशानिया :

आज के समय हिंदी मीडियम के लिए यूपीएससी या फिर राज्य लेवल पर होने वाली सिविल सर्विसेज का एग्जाम पास करना काफी कठिन हो जाता है और पिछले कई सालो से हर साल यूपीएससी के एग्जाम में हिंदी मीडियम के छात्रों का पासिंग मार्क्स सिर्फ 3 से 4 प्रतिशत ही रहा है |

ज्यादातर हिंदी मीडियम के छात्रों की यह समस्या रहती है की उनका बेसिक और अकादमी लेवल पर किसी भी विषय पर नॉलेज बहुत कम रहता है या फिर उसमे वे कमजोर रहते हैं ऐसे में उन्हें यूपीएससी की तैयारी करने में काफी समस्याओं का सामना करना पड़ता है |

हिंदी मीडियम के छात्र जब यूपीएससी जैसे एग्जाम की तैयारी करना शुरू करते हैं तो वे पहले सिलेबस को देखकर सोचते है की कैसे पूरा होगा क्योकि सभी विषय में किसी की भी पकड नहीं होती है |

अगर हिंदी मीडियम का छात्र यूपीएससी के pre का पहला पेपर निकाल भी लेता है तो उसे CSAT के एग्जाम में दिक्कत आ जाती है और वही उसका pre का एग्जाम ही नहीं निकल पाता है जिससे उसके लिए आगे के रस्ते बंद हो जाते हैं |

अगर कोई हिंदी मीडियम का छात्र pre का एग्जाम भी निकाल लेता है तो फिर उसे मेंस के एग्जाम में ऑप्शनल विषय और इग्लिश के अनिवार्य विषय (Qualifiying) में फिर से परेशानी में फंस जाता है उसे ऑप्शनल चुनने में काफी दिक्कत आती है क्योकि उसे लगता है की मेरा तो किसी भी विषय में अच्छी पकड नहीं है |

आखिर में इंटरव्यू तक पहुचना मुश्किल हो जाता है जहाँ सिर्फ कुछ ही हिंदी मीडियम के छात्र पहुच पाते हैं |

Final Words :

दोस्तों यूपीएससी का सफर इतना भी आसान नहीं है ही आप चुटकियो में कर लोगे इसके लिए आपको दिन रात मेहनत करती होगी| अब आप दिन के कितने घंटे पड़े वो आप पर निर्भर करता है लेकिन सामान्यतया एक यूपीएससी का छात्र औसतन 8 से 10 घंटे पढता ही है वो भी निरंतर |

अगर आप भी यूपीएससी के तैयारी कर रहे हैं और हिंदी मीडियम से हैं तो आपको क्या क्या परेशानिया आती हैं हमे कमेंट करके बता सकते हैं |

FAQs..

यूपीएससी की परीक्षा के लिए योग्यता कितनी चाहिए?

यूपीएससी की परीक्षा के लिए किसी भी विषय या फिर स्ट्रीम से ग्रेजुएशन होनी चाहिए|

यूपीएससी का एग्जाम कहाँ होता है?

यूपीएससी का एग्जाम राज्य के सभी मुख्य शहरो में इनके केंद्र बनाये जाते हैं |

यूपीएससी का पेपर कैसा होता है?

यूपीएससी का पेपर भारत के सबसे कठिन और प्रतिष्ठित परीक्षाओ में से है है जिसका एग्जाम सबसे कठिन माना जाता है और सच में काफी जटिल भी होता है |
लेकिन मेहनत करने वाले अभ्यर्थियों के लिए कुछ भी कठिन नहीं होता है|

Vikram mehra

मेरा नाम विक्रम मेहरा है मै उत्तराखंड का रहने वाला हु मैंने B.sc (PCM) से की हुई है और मुझे टेक्नोलॉजी, साइंस और लोगो को अपने ऑनलाइन माध्यम से शिक्षा देना बहुत पसंद है मेरा मकसद ऑनलाइन माध्यम से लोगो तक इनफार्मेशन पहुचाना है और साथ ही मुझे मूवीज देखना, घूमना बहुत पसंद है |

Leave a Reply