You are currently viewing 10+ rules how to save money in hindi for future? | paise kaise bachaye भविष्य के लिए?
how to save money in hindi

10+ rules how to save money in hindi for future? | paise kaise bachaye भविष्य के लिए?

दोस्तों आज के टॉपिक में हम बात करेंगे की paise kaise bachaye क्योकि आज के समय में ये इतना जरुरी हो गया है को इस बात की सिर्फ एक सामान्य वर्ग का ही इंसान समझ सकता है की saving money की क्या अहमियत है |

आज के समय में हमारे देश में एक सामान्य वर्ग के परिवार में 99% लोग पी नही बचा पाते है और ना ही उनको इस बारे में पता होता है की हम पैसे कैसे बचा सकते हैं |

पैसे बचाना इतना जरुरी क्यों है ?

अगर आप अपने बच्चो कप भविष्य में अच्छी शिक्षा देने की सोच रहे है और आप चाहते है की मै अपने बेटे/बेटी को कोई अच्छा कोर्स करूँगा और उस समय आपके पास उतने पैसे नही होंगे तो आप क्या करोगे ?

अगर आपके परिवार में किसी को कभी कोई बीमारी हो गयी या फिर कोई घटना हो गयी तब क्या करोगे? क्योकि ऐसा किसी के भी साथ हो सकता है वैसे भी ऐसे समय अपर कोई आपको इतने ज्यादा पैसे की मदद नही कर पाता है और न ही इतने पैसे हमारे पास सेव होते है |

इसीलिए मेरा मानना है की लाइफ में पैसा बचाना बहुत ही जरुरी है |

how to save money in hindi

Money saving tips in hindi (पैसे बचाने के आसान तरीके) :

अपने खर्चो को रिकॉर्ड करें :

ये आज के समय में बहुत ही बढ़िया तरीका है अपने खर्चे को जांचने का, आप अपने डेली के लाइफ में कुछ भी खर्चा करते है चाहे शॉपिंग करते हो, रेस्टोरेंट में खाना खाते हो, घूमने जाते हो या फिर कोई जरुरी खर्चा करते हो आप हर किसी हा हिसाब रख सकते हो |

इसके लिए आप अपने मोबाइल में किसी भी ऐसे एप्लीकेशन का इस्तेमाल कर सकते हो जो आपकी खर्चो की जानकारी रखे |

Savings के लिए बजट बनाए :

अगर आप एक बार ये पता लगा ले की आपने एक महीने में कितना खर्चा किया तो इससे आपको अंदाजा लग जाएगा की कहा पर और किस चीज पर अपने ज्यादा खर्चा किया जिससे उसे आप अगली बार सुधार सके |

आपकी महीने में जितनी भी इनकम है उसे इस तरह से बांटे की आप अपनी कमाई का कुछ हिस्सा सेविंग के लिए रख सको |

Save automatically :

ये बहुत ही अच्छा तरीका होता है इसमें आप अपने कमाई वाले अकाउंट के अलावा एक दूसरा अकाउंट खोल सकते है और अपने कमाई वाले अकाउंट से कुछ हिस्सा ऑटो सेव करके महीने में दुसरे अकाउंट में डाल सकते है और इससे आपको पता भी नही चलेगा |

Emergency fund बनाए :

कई एक्सपर्ट की ये राय होती है की एक सामान्य इंसान को हमेशा कम से कम 6 महीने तक का एमरजेंसी सेविंग अपने अकाउंट में रखना चाहिए |

इसका फायदा ये है की अगर कभी आपकी नौकरी चली जाती है तो आपके अकाउंट में बचे हुए ये पैसे आपके काम आ सकते है कुछ महीने के लिए उसके दौरान आप दूसरी जगह नौकरी ढूंढ सकते हैं

कर्ज से बचे :

कभी भी बिना ज्यादा जरूरत के किसी से कर्ज लेने से बचे और और अगर आप क्रेडिट कार्ड इस्तेमाल करते है तो समय से पहले उसका भुगतान कीजिये नही तो बहुत मुश्किल हो जाती है |

अगर कर्ज ले भी लेते हो तो उसे तय अनुसार चुकाने की कोशिश कीजिये नही तो इसकी भरपाई करना ही बहुत मुश्किल हो जाता है |

30 days rule का इस्तेमाल करें :

बहुत सारे ऐसे लोग है जो 30 days rule को फॉलो करते है शायद आपने नही सुना होगा इसके बारे में लेकिन लोग कुछ भी खर्चा करने से पहले इस रूल को फॉलो करते है और आपको भी करना चाहिए

रिटायरमेंट के लिए सेविंग goals बनाए :

अपनी नौकरी के दौरान आपको अपनी सैलरी का कुछ हिस्सा mutual fund में इन्वेस्ट करना चाहिए या फिर अपने नाम से RD खोल लेनी चाहिए जिससे आने वाले भविष्य में आपको आर्थिक तंगी से ना गुजरना पढ़े |

Quality पर खर्च करें :

हमेशा उस चीजो पर खर्च करे जिनका आपको लम्बे समय तक इस्तेमाल करना है और उसे आपको बार बार खरीदने की जरूरत न पड़े |

कोई भी ऐसा फालतू की चीजे न ले जिसका लम्बे समय तक कोई इस्तेमाल नही होता है उससे हमेशा आपके खर्चे बढ़ेंगे|

No spend day rule :

आपको सप्ताह में एक दिन ऐसा rule फॉलो करना है जिसमे आप एक पैसा भी खर्च न करे ये rule आप अपने परिवार के साथ मिलकर फॉलो कर सकते हैं इससे आपको पता चलेगा की हम कौन सी चीजो पर अपना खर्चा कम कर सकते है जिनकी हमे ज्यादा जरूरत नही है |

बाहर का सामान कम इस्तेमाल करें :

जब कभी भी आप कही बाहर जाते है तो कोशिश करो की जितना हो सके उतना बाहर की चीजे कम इस्तेमाल हो चाहे आप फास्टफूड खाते हो, बेवजह ज्यादा पार्टी करते हो या फिर बेवजह ज्यादा घुमते हो ये साड़ी चीजे करना कम कर सकते है |

ज्यादा ब्रांडेड सामान न खरीदे कोशिश कीजिये बेसिक सामान ही खरीदे जिनसे आपका काम चल जाए |

कम सैलरी में पैसे कैसे बचाए (How to save money with less salary) :

जैसा की सभी को लगता है की इतनी सैलरी में मेरा खर्चा कैसे चलेगा चाहे आपकी सैलरी कम हो या ज्यादा और हमे महीने के last में कुछ पैसे सेव भी करने होते है |

आप अपनी सैलरी को अलग अलग हिस्सों में बाँट सकते है जब भी महीने के last में आपकी सैलरी आती है तो अपनी सैलरी का 65-70% हिस्सा आप फॅमिली की डेली खर्चे में इस्तेमाल कर सकते है |

बाकी के पैसो में से अगर आपने कही कोई किस्ते ले रखी है तो वो चूका सकते है और बचे हुए पैसो को आप इन्वेस्ट भी कर सकते है mutual fund आपके लिए एक बेहतर आप्शन हो सकता है और इसके साथ साथ आप फिक्स्ड deposit भी कर सकते है

और बात करे सेविंग की तो वो आपके सैलरी में मिलने वाला PF महीने में जमा होते रहता है जिसे आप जरूरत के समय निकाल सकते है |

Bachat kaise kare? (How to save money in hindi)

मैंने आपको जितनी संभव तरीके है वो बता दिए है लेकिन आज के समय में जितना बचत करने की सोचते हो उससे ज्यादा इन्वेस्ट की सोचो क्योकि जितना प्रॉफिट आपको इन्वेस्ट से मिलेगा उतना आपको सेविंग से नही मिलेगा इस बात को जरुर याद रखना |

आपने जो भी अमीर लोगों के बारे में सुना होगा वे लोग ज्यादा पैसा अपने अकाउंट में सेवा करके नही रखते है वे लोग जितना कमाते है उतना इन्वेस्ट भी करते है जिससे उनको return भी अच्छा मिले |

बचत के लिए आप किसी एक्सपर्ट की सलाह भी ले सकते है ये आपके लिए बहुत सही रहेगा वो आपको ये बता पाएँगे की आपको कितना खर्चा करना है और कितना इन्वेस्ट करना है और सेव कितना करना है |

और पढ़े : आत्मनिर्भर कैसे बने आर्थिक रूप से

Conclusion (निष्कर्ष) :

मैंने आपको सारी बाते एक्सपर्ट के द्वारा दिए गये सलाह से ही बताई है आप अगर इन बातो को फॉलो करते है तो जरुर आप अच्छी सेविंग कर सकते हैं

ये बाते नौकरीपेशा और स्टूडेंट सभी के लिए लागू होती है अगर स्टूडेंट आज से हो इन बातो को फॉलो करे तो भविष्य में उनको कोई दिक्कत नही होगी |

मेरे द्वारा बताई गयी बातो से आपको कोई मदद मिली तो मुझे बहुत अच्छा लगेगा और अगर आपको कोई प्रश्न पूछना है तो आप निचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते है |

Vikram mehra

मेरा नाम विक्रम मेहरा है मै उत्तराखंड का रहने वाला हु मैंने B.sc (PCM) से की हुई है और मुझे टेक्नोलॉजी, साइंस और लोगो को अपने ऑनलाइन माध्यम से शिक्षा देना बहुत पसंद है मेरा मकसद ऑनलाइन माध्यम से लोगो तक इनफार्मेशन पहुचाना है और साथ ही मुझे मूवीज देखना, घूमना बहुत पसंद है |

Leave a Reply