You are currently viewing Start With Why Book Summary In Hindi By Simon Sinek

Start With Why Book Summary In Hindi By Simon Sinek

हेलो दोस्तों आज के इस टॉपिक में हम बात करेंगे start with why book की summary के बारे में जिसके लेखक simon sinek हैं इस किताब को उन लोगो को पढनी चाहिए जो लाइफ में कुछ नया करना चाहते हैं जो अपने लाइफ में बिज़नस या स्टार्टअप करने के बारे में सोचते हैं उन्हें ये किताब अवश्य पढनी चाहिए |

इस किताब को पढ़कर आप जान पाओगे की कैसे आप अपने प्रतिद्वंदी को पीछे छोड़ सकते हैं और अपने goal को हासिल करने के लिए सफलता हासिल कर सकते हैं |

Start with why book summary in hindi | start with why audiobook by simon sinek | Start with why book in hindi | Start with why summary in hindi | Start with why audiobook in hindi

Also Read : Getting to yes book summary in hindi

Start with why book summary in hindi | Start with why audiobook summary in hindi

इस किताब की summary के माध्यम से हम इसके सभी 14 चैप्टर की संक्षिप्त summary आपके सामने प्रस्तुत करेंगे |

(1). Keep End Result In Mind

आप जो भी बिज़नस करना चाहते हैं सबसे पहले उसका end result अपने दिमाग में रख लें इसी तरह अगर आप कोई नया स्टार्टअप शुरू कर रहे हो तो आप पहले ही ये सोच ले की इस स्टार्टअप से आखिर आप क्या चाहते हो| जैसे आपको इस बिज़नस को किस लेवल तक ले जाना है, आगे के फ्यूचर प्लान क्या होंगे इत्यादि |

जब आपके दिमाग में इन सभी बातों की clarity होगी तो आपके अंदर कुछ भी doubt नहीं होगा, लेकिन अगर आप बिना सोचे-समझे किसी भी काम को शुरू कर देते हैं तो इसमें आप हमेशा कन्फ्यूज्ड रहोगे और आपसे गलतियाँ भी बहुत ज्यादा होंगी |

इसीलिए आपके पास शुरुआत से लेकर अंत तक का पूरा रोडमैप होना चाहिए वर्ना आप अपने काम में clear नहीं रह पाओगे |

(2). Don’t Use Manipulation

अगर आपको बिज़नस करना है या कर रहे हो तो आपको कभी भी manipulation नहीं करना चाहिए, आज के समय कई सारे बिज़नस में ऐसा होता है वे कस्टमर के साथ manipulation करते हैं लेकिन अंत में उन्हें कुछ भी हासिल नहीं होता है और वे कस्टमर का भरोसा भी खो देते हैं आप लोगो ने देखा होगा की बिज़नस में किस तरह से manipulation किया जाता है |

बहुत सारी कंपनी अपने प्रोडक्ट के कीमत को कम करके डिस्काउंट का लालच देती हैं कुछ ब्रांड विज्ञापन के जरिये लोगो के अंदर भय पैसा करती है जैसे ब्यूटी ब्रांड वाले अपने प्रोडक्ट के विज्ञापन के माध्यम से लोगो को डराते हैं |

जैसे आपमें peer pressure भी डाला जाता है जैसे पान मसाले के ads में दिखाया जाता है की इसे सिर्फ असली मर्द खाते हैं| कभी-कभी ऐसे ब्रांड आपके ambition के साथ भी खिलवाड़ करते हैं वे आपको बताते हैं की ये प्रोडक्ट लेंगे तो आप सफल हो जाओगे |

दोस्तों लेखक के कहने का तात्पर्य ये है की manipulation करके आप थोड़े समय के लिए कस्टमर को बेवकूफ बना सकते हैं लेकिन ये ज्यादा दिनों तक काम नहीं करता है| इसीलिए ऐसा करने के बजाय आप आपना दिमाग, पैसा और समय अच्छे चीजो में लगाये |

(3). The Golden Circle

लेखक का कहना है की दुनिया के बड़े-बड़े बिजनेसमैन और अमीर व्यक्तियों ने भी लोगो को मोटीवेट किया ना की दूसरो के साथ manipulation किया|

इसके लिए वे गोल्डन सर्किल का सहारा लेते थे जिसमे इसके मुख्य तीन पार्ट हैं- Why, What और How |

Why का मतलब- अगर आप कोई भी बिज़नस करना चाहते है तो सबसे पहले खुद से पूछो की आप ये बिज़नस क्यों करना चाहते हैं? आखिर आपका क्या मकसद है? अगर आपका मकसद सिर्फ पैसा कमाना है तो आपका ये बिज़नस fail हो जाएगा |

लेकिन अगर आप इस बिज़नस से लोगो की हेल्प करना चाहते हैं, अच्छी और सफल लाइफ जीना चाहते हैं तो ही आपको बिज़नस करना चाहिए |

What का मतलब है की- आप ऐसा क्या बिज़नस कर रहे हो जिससे लोगो की हेल्प होगी? या आप ऐसा क्या प्रोडक्ट बना रहे हो जिससे लोगो को फायदा होगा?

How का मतलब है की- कैसे आप अपने बिज़नस को लोगो तक पंहुचा सकेंगे? क्या आप ऑनलाइन या ऑफलाइन शुरू करेंगे? कैसे आपका बिज़नस लोगो के लिए मददगार रहेगा ?

(4). The Golden Circle And Your Brain

गोल्डन सर्किल हमारे दिमाग से जुड़ा हुआ होता है जैसे why और how हमारे limbic system से जुड़े हैं ये हमारे दिमाग को ऐसा पार्ट है जो हमे जिज्ञासु बनाता है और यही हमे reward पाने के लिए प्रेरित करता है यही हिस्सा हमे pain और pleasure का एहसास करवाता है |

जबकि why हमारे Neocortex से जुड़ा होता है cortex हमारे माथे के पास वाला हिस्सा होता है यह deep thinking से जुड़ा हुआ होता है इसे साथ ही ये हमारी इंटेलिजेंस और प्रॉब्लम सोल्विंग से भी जुड़ा होता है |

इसीलिए कोई भी बिज़नस शुरू करने के लिए हमे अपने दिमाग का maximum पार्ट इस्तेमाल करना चाहिए |

Also Read : The power of habit book summary in hindi

(5). Work With Understanding People

आपको ऐसे लोगो के साथ काम करना है जो आपकी फिलोसोफी को समझे और आप क्या सोचते हैं, आपका क्या विज़न है इन सभी बातों की समझ उनके अंदर होनी चाहिए |

लगभग सभी लोगो को लगता है की बिज़नस या कंपनी सिर्फ पैसा कमाने के लिए बनाई जाती है लेकिन वे लोग ये नहीं समझते हैं की वे लोगो को मदद कर रहे हैं वे अपने सर्विस और प्रोडक्ट से लोगो का काम आसान कर रहे हैं |

इसी तरह अगर आप NGO के साथ काम कर रहे हैं तो आपके साथ ऐसे लोग होने चाहिए जो आपकी तरह सोचते हैं |

इसीलिए बिज़नस या कंपनी शुरू करने से पहले आपको अपनी टीम को ये बता देना चाहिए की आपका क्या विज़न है इससे सिर्फ सही लोग आपके साथ लम्बे समय तक जुड़े रहेंगे |

(6). Build Trust With Golden Circle

दोस्तों लेखक का कहना है की आपको गोल्डन सर्किल की तकनीक का इस्तेमाल करना है जिससे आप लोगो का भरोसा जीत सके| जब भी आप कुछ शुरू करते हैं तो एक बार खुद से पूछो की आपने ये प्रोडक्ट क्यों बनाया?

आपके अंदर एक problem solver का जैसा दिमाग होना चाहिए की कैसे आप कस्टमर की सहूलियत को समझ सकें|

अगर आपके प्रोडक्ट में दम होगा तो वो अवश्य लोगो को पसंद आएगा और लम्बे समय तक चलेगा |

(7). Law Of Diffusion Of Innovations

इस चैप्टर में लेखक प्रोफेसर Everett Roger के द्वारा दिया गया एक Law Discuss करते हैं जिसमे इस लॉ को The law of diffusion of innovations कहा जाता है |

आप एक bell shape curve की कल्पना करो जो एक पहाड़ की तरह दिखता है जिसमे इसके पांच हिस्से होते हैं |

Extreme Left : इस हिस्से में innovator आते हैं जिनका प्रतिशत बहुत कम है और इन्हें प्रोडक्ट समझ आ जाता है |

Early Adopters : इस तरह के लोग आपके प्रोडक्ट को सबसे जल्दी खरीदते हैं ऐसे लोग अमीर और upper middle class के होते हैं ये नयी-नयी चीजो को खरीदते रहते हैं |

The Early Majority : इस हिस्से में अब माध्यम वर्ग के लोग भी आपका प्रोडक्ट खरीदने लगते हैं क्योकि उन्हें आपके प्रोडक्ट की वैल्यू समझ आने लगती हैं |

The Late Majority : इस हिस्से में आम जनता भी आपका प्रोडक्ट लेने लगती है क्योकि अब आपके प्रोडक्ट को सभी लोग जानने लग गये हैं और लोगो को पसंद भी आ रहा है |

Leggards : ये ऐसे लोग हैं जिन्हें आपका प्रोडक्ट बिलकुल भी पसंद नहीं होता है और ना ही ये कभी खरीदते हैं |

दोस्तों अब आप लॉ और इसके curve को जान गये होंगे की लोग आपके प्रोडक्ट को किस तरह से देखते हैं |

(8). Bill Gates And Political Leaders

लेखक ने इस चैप्टर में बिल गेट्स का उदहारण दिया है की वे कभी भी जोर-जोर से नहीं बात करते हैं और देखने में काफी शांत नजर आते हैं |

वे काफी धीमे बात करते हैं और लोग उनके अगले वाक्य का इन्तेजार करते हैं लोग उन्हें सुनना चाहते हैं क्योकि उन्होंने लोगो के ट्रस्ट को जीत लिया है लोगो को लगता है की वे कुछ नया बात करेंगे |

लेकिन कुछ पोलिटिकल लीडर जो बेहद जोशीले होते हैं और बहुत जोश में बात करते हैं वे लोगो में उर्जा भर देते हैं लेकिन ये उर्जा किसी काम की नहीं होती है अगर एक लीडर लोगो का दिल नहीं जीत पाता है तो उस पर से लोगो का भरोसा उठ जाता है |

लेकिन अगर लीडर अपने किये वादों को निभाता है तो लोगो उनका समर्थन करने लगते हैं |

Also Read : Activate your brain book summary in hindi

(9). Create Your Message

आप जो भी बिज़नस करें या कम्पनी शुरू करें, आपका एक मैसेज होना चाहिए जिसे आप बढ़ा-चढ़ाकर सबके सामने रखें| ये मैसेज आपके स्पीच, पोस्टर और हर जगह होना चाहिए और इसके अलावा आपके टीम को भी वो मैसेज याद होना चाहिए |

ये मैसेज बार-बार और हर जगह होना चाहिए जिससे लोग इसे याद रखे और लोग आपका प्रोडक्ट लेते रहें |

जिस तरह से Nike का मैसेज है- Just Do It, आपको याद है क्योकि ये मैसेज आपको मोटीवेट करता है |

इसीलिए अपने ब्रांड और कंपनी का भी एक मैसेज होना चाहिए जो की लोगो को भी वैल्यू दें|

(10). Use Effective Symbols

दोस्तों इस चैप्टर के माध्यम से लेखक ने ये बताया है की आपके बिज़नस, ब्रांड या कंपनी का एक लोगो/सिंबल होना चाहिए जिससे की लोग जान सकें| आपके सिंबल का डिजाईन ऐसा होना चाहिए की लोगो को कुछ न कुछ सन्देश मिले |

एक सिंबल के पीछे बहुत बड़ी साइकोलॉजी होती है जिससे बड़े बड़े कंपनी, ब्रांड बहुत ध्यान से अपना Logo डिजाईन करती है |

क्योकि अच्छे ब्रांड और कंपनी के Logo लोगो के दिमाग में छप जाती हैं |

(11). Don’t Forget WHY

जब एक बार आपकी कंपनी प्रॉफिट कमाना शुरू कर देती है तो आप अपने उद्देश्य को भूल जाते हो और आपका मुख्य उद्देश्य पैसा कमाना हो जाता है इससे आपके लॉयल कस्टमर आपका साथ छोड़ना शुरू कर देते हैं और आपके कस्टमर dissatisfy होने लग जाते हैं और वे आपके competitor के प्रोडक्ट लेना शुरू कर देते हैं |

अगर आप समय के साथ कुछ नया प्रोडक्ट नहीं बनाते हैं तो कस्टमर आपके उसी पुराने प्रोडक्ट के साथ bore होने लगता है और आपका वही प्रोडक्ट outdated हो जाता है |इसीलिए हमेशा खुद से Why पूछते रहो और अपने प्रोडक्ट को अपग्रेड करते रहो |

आगर आप अपने प्रोडक्ट में नए-नए फीचर लाते रहोगे तो लोगो का क्रेज बना रहेगा| लेकिन ऐसा तभी होगा जब आप खुद से what, why, how पूछते रहोगे |

(12). Help From Influencers

आप why के अलावा how पर भी ध्यान देते रहे, आपको ये देखना है की आपका बिज़नस कैसा चल रहा है और आप अपने बिज़नस को लोगो तक कैसे पंहुचा रहे हैं |

इससे अगर आपका प्रोडक्ट अच्छा होगा तो आपके कस्टमर आपके बिज़नस के बारे में लोगो को भी बताएँगे जिससे आपका बिज़नस और अच्छा चलेगा |

आप अपने बिज़नस, ब्रांड और प्रोडक्ट का प्रमोशन भी करवा सकते हैं जिसके लिए आप सेलेब्रिटी, influencers की मदद ले सकते हैं अगर आपका प्रोडक्ट अच्छा होगा तो लोग उसके बारे में जानेंगे और उसके purchase होने की सम्भावना बढ़ जाएगी |

(13). Balanced Market Research

लेखक का कहना है की किसी भी सर्विस या प्रोडक्ट को सेल करने के लिए मार्किट रिसर्च की जरूरत पड़ती है इससे हमे पता चलता है की मार्किट में क्या चल रहा है लेकिन कभी कभी ये एप्रोच नुकसानदायक हो जाता है |

क्योकि मार्किट रिसर्च करके कही आप वही पुराने टाइप का बिज़नस कर रहे हो जो पहले से ही चल रहा है तो आपका बिज़नस ज्यादा समय तक चलेगा नहीं, क्योकि पुराने लोग आपको मार्किट में टिकने नहीं देंगे |

इसके लिए आपको अपने why पर काम करना है की आखिर आपको ये प्रोडक्ट क्यों बनाना है? क्या पता आपको कोई नया आईडिया मिल जाए जो मार्किट में अभी तक नहीं आया हो, जिसका कम्पटीशन एकदम जीरो है |

(14). Compete With Yourself

हम हमेशा अपने competitors से compete करते हैं हम वैसा ही प्रोडक्ट या सर्विस लाने की कोशिश करते हैं जैसा सामने वाला ला रहा है लेकिन इससे आप अपने प्रोडक्ट, ब्रांड की पहचान नहीं बना पाते हैं |

इसके बजाय आपको खुद से ही compete करना चाहिए, आपको अपने सर्विस या प्रोडक्ट में अपडेट लाना चाहिए, उसमे नए-नए फीचर अपडेट करना चाहिए और जो भी करो उसमे आपकी क्रिएटिविटी होनी चाहिए |

इसी तरह से सभी बड़ी कंपनी, ब्रांड करती है जिससे आज वे पूरे दुनिया में इतने सफल है क्योकि वे किसी की कॉपी नहीं करते हैं तभी उनकी अलग पहचान होती है |

Final Word :

दोस्तों मुझे उम्मीद है की आपको start with why की बुक summary काफी अच्छी लगी होगी| अगर आपको भी लाइफ में कुछ नया करना है तो आपको ये किताब अवश्य पढनी चाहिए|

Vikram mehra

मेरा नाम विक्रम मेहरा है मै उत्तराखंड का रहने वाला हु मैंने B.sc (PCM) से की हुई है और मुझे टेक्नोलॉजी, साइंस और लोगो को अपने ऑनलाइन माध्यम से शिक्षा देना बहुत पसंद है मेरा मकसद ऑनलाइन माध्यम से लोगो तक इनफार्मेशन पहुचाना है और साथ ही मुझे मूवीज देखना, घूमना बहुत पसंद है |

Leave a Reply