Swami Vivekananda story Hindi | स्वामी विवेकानंद की कहानी

दोस्तों आज के इस टॉपिक में हम आपको स्वामी विवेकानंद की लाइफ से जुडी एक कहानी बताने वाले हैं जिसमे swami vivekananda story hindi की इस कथा में सिर्फ एक छोटी सी कहानी पेश करेंगे |

Swami vivekananda story hindi:

एक बार मै बोस्टन में था तो एक नवयुवक मेरे पास आया और मेरे हाथ पर उसने एक कागज़ का टुकड़ा रख दिया और उस पर उसने ही किसी व्यक्ति का नाम-पता लिखा था और आगे यह वाक्य लिखा था – “दुनिया की सारी दौलत और सारी बातों का सुख तुम्हे मिल सकता है, पर सिर्फ उसे पाने की तरकीब तुम्हे मालूम होनी चाहिए अगर तुम मेरे पास आओ तो मै तुम्हे वह तरकीब सिखा दूंगा | फीस सिर्फ पांच डॉलर|”

चिठ्ठी देकर उसने मुझसे पुछा – आपकी क्या राय है?

मैंने उत्तर दिया – ‘कम से कम यूज़ छपवाने के लिए कुछ पैसा तो कमा लो | तुमने तो यह हाथो से लिखा है |’

मेरे कहने का मतलब वह नहीं समझ सका वह इसी विचार से मस्त था की बिना कोई काम किये यूज़ तमाम सुख और पैसा मिल जाएगा |

हम इस दुनिया में मनुष्यों में दो प्रकार की चरम प्रवृतिया पाते हैं |

पहली है चरम आशावादी वृति, जिसमे हर एक मौसम वस्तु हमे सुंदर, हरी-भरी और अच्छी प्रतीत होती है |

दूसरी है चरम निराशावादी वृति, जिसमे ऐसा प्रतीत होता है की सारी बातें हमारे मन के प्रतिकूल ही हैं |

जब हम नौजवान और शक्तिवान होते हैं तो ऐसा मालूम होता है की दुनिया की सारी भोग की चीजे हमारे लिए ही पैदा की गयी हैं| जब हम बूढ़े हो जाते हैं तो हम खांसते-खांसते एक कोने में बैठ जाते हैं और दूसरो के उत्साह पर भी ठंडा पानी फेरने लगते हैं |

कम मनुष्यों को इसका ज्ञान होता है की दुःख के साथ सुख और सुख के साथ दुःख लगा हुआ है | सुख और दुःख जुड़वाँ भाई हैं जिसकी बुद्धि संतुलित है यूज़ दोनों का ही त्याग करना चाहिए |

ज्ञानी पुरुष जानता है की विषय भोग निस्सार है और सुख-दुःख का कोई अंत नहीं |

  • स्वामी विवेकानंद (आत्मानुभूति तथा उसके मार्ग पुस्तक से साभार)
swami vivekananda story hindi
swami vivekananda story hindi

Swami vivekananda quotes in hindi :

स्वामी विवेकानंद की लाइफ से जुडी कुछ ऐसे बातें जो हमे जरुर अपनानी चाहिए और उनके कुछ ऐसे quotes हैं जो हम आपको बताना चाहते हैं |

जब तक जीना,

तब तक सीखना|

यानी अनुभव ही जगत

में सर्वश्रेष्ठ शिक्षक है |

swami vivekananda

My faith is in the younger

generation, the modern

generation, they will work

out the whole problem,

like lions.

swami vivekananda

You can not believe in god

until you believe in yourself

swami vivekananda

This world is our friend when

we are its slaves and no more

swami vivekananda

One who leans on others cannot

serve the god of truth

swami vivekananda

If the mind is intensely eager, everything

can be accomplished- mountains can be

crumbled into atoms

swami vivekananda

Do not give up the world, live in the world,

imbible its influences as much as you can,

but if it be your own enjoyment’s sake,

work not at all

swami vivekananda

Also read : essay on girls education in hindi

Final words :

तो दोस्तों कैसी लगी आपको यह स्टोरी पढकर क्योकि आज के समय में हर कोई स्वामी विवेकानंद की स्टोरी और उनके द्वारा बोली गयी बातों को फॉलो करता है |

और हमे अपने जीवन में इसका पालन करना चाहिए अगर आपको यह कहानी अच्छी लगी तो आप कमेंट करके हमे बता सकते हैं |

FAQ.

स्वामी विवेकानंद ने समाज में क्या सन्देश दिया?

स्वामी विवेकानंद का मुख्य उद्देश्य समाज को शिक्षित, जागरूक और प्रेम से एक दुसरे के साथ रहना था और अपने धर्म के प्रति आस्था और दुसरे धर्म का सम्मान करना ही उनका उद्देश्य था |

स्वामी विवेकानंद ने शादी क्यों नहीं की?

उनका पूरा जीवन लोगो और समाज की सेवा में न्योछावर था उन्हें खुद की और पारिवारिक सुख की कोई अभिलाषा नहीं थी उनका मकसद लोगो की सेवा करना ही था इसके अलावा उनका शादी, मोह माया की तरफ कोई रुझान नहीं था |

स्वामी विवेकानंद की मृत्यु कब हुई?

स्वामी विवेकानंद की मृत्यु 4 जुलाई 1902 को हुई

स्वामी विवेकानंद का जन्म कब हुआ?

स्वामी विवेकानंद का जन्म 12 जुलाई 1863 को हुआ|

Vikram mehra

मेरा नाम विक्रम मेहरा है मै उत्तराखंड का रहने वाला हु मैंने B.sc (PCM) से की हुई है और मुझे टेक्नोलॉजी, साइंस और लोगो को अपने ऑनलाइन माध्यम से शिक्षा देना बहुत पसंद है मेरा मकसद ऑनलाइन माध्यम से लोगो तक इनफार्मेशन पहुचाना है और साथ ही मुझे मूवीज देखना, घूमना बहुत पसंद है |

Leave a Reply