The Selfish Gene Book Summary In Hindi By Richard Dawkins

हेलो दोस्तों क्या आपने Richard Dawkins की किताब के बारे में सुना या पढ़ा है? अगर नहीं तो मै आपको बता दूं की Dawkins की इस किताब The Selfish Gene में क्या लिखा है | Dawkins का कहना है की सभी species, नेचुरल सिलेक्शन से ही बनती हैं और इस evolution का बेसिक कोर यूनिट- पापुलेशन ही हैं |

इसमें जीवित प्राणियों की पापुलेशन को एक टेस्ट में पास होना पड़ता है और जो उसमे सेलेक्ट हो पाता है वही नयी species बना पाता है हमारी प्रकृति के कई तरह के टेस्ट हो सकते हैं जैसे- भोजन का अकाल, पर्यावरण का विनाश और कोई महामारी इत्यादि |

Dawkins के समय में डीएनए और gene की खोज नहीं हो पायी थी इसीलिए इनकी किताब में इसका कोई जिक्र नहीं है |

लेकिन अपनी इस किताब में इन्होने gene को evolution का बेसिक यूनिट बताया है और उनके अनुसार gene ने ही कई तरह के जीव और उनके behavior की प्रवृति बनाई है |

Also Read : Modern Romance Book Summary In Hindi

The Selfish Gene Book Summary In Hindi | The Selfish Gene Audiobook Summary

1.How Genes Are Selfish

लेखक का कहना है की हमारी gene selfish होती है यहाँ पर लेखक ने selfish शब्द का प्रयोग एक metaphor के रूप में किया है क्योकि gene कोई प्राणी नहीं है जो सेल्फिश व्यवहार करेगा |

लेकिन आपने देखा होगा की इंसान, जीव-जंतु तो मर जाते हैं लेकिन हमारे gene हमेशा बची रहती है वो खुद को next जनरेशन तक ले जाती है |

जैसे एक पिता की मृत्यु हो जाती है तो भी उसके gene उसके बच्चो में बची रहती है और यह पीढ़ी दर पीढ़ी चलती रहती है इससे प्रतीत होता है की gene सिर्फ अपने बचाव के बारे में सोच रही है और हमेशा खुद को बचा लेती है |

इसीलिए लेखक ने gene को selfish होने की संज्ञा दी है |

2.How Genes Evolved (The Selfish Gene Book In Hindi)

सबसे पहले इस धरती पर सिर्फ डीएनए और मॉलिक्यूल ही बने थे| मनुष्यों और जीव-जन्तुओ का कोई असितत्व ही नहीं था |

सर्वप्रथम कार्बन, नाइट्रोजन, सल्फर आदि से सिंपल केमिकल बने, फिर उनसे काम्प्लेक्स कंपाउंड बने जैसे- कार्बोहाइड्रेट, एमिनो एसिड, लिपिड, डीएनए इत्यादि |

इनमे से सिर्फ डीएनए ही ऐसा मॉलिक्यूल था जो खुद को evolve कर सकता था और replicate भी कर सकता था यानि की वे एक से कई बन सकते थे | डीएनए के इन छोटे-छोटे टुकडो को ही gene कहा जाता है |

इन gene ने खुद को बचाने के लिए और survive करने के लिए जीव-जंतु, पेड़-पौधों की उत्पति की और इनमे रहने से gene सुरक्षित हो गई |

धीरे-धीरे हमारी gene ने इंटेलीजेंट species जैसे ह्यूमन को भी evolve किया और ह्यूमन के अंदर तरह-तरह के behavior को जन्म दिया | जिनमे कुछ behavior अच्छे थे तो कुछ बुरे भी थे लेकिन हर behavior को हमारे gene ने अपने selfish इंटरेस्ट के लिए जीवित रखा |

Also Read : Zero To One Book Summary

3.Ants And Aphids

कई चीटियाँ जो aphids को पालती हैं और उनके glands से निकलने वाले मीठे रस को पीती हैं ऐसे देखने में लगता है की ये दोनों एक-दुसरे के गुलाम हैं लेकिन इनकी gene ने इनके सेल्फ इंटरेस्ट के लिए दोनों में ऐसे behavior को जन्म दिया है |

क्योकि इससे दोनों species का फायदा होता है नहीं तो aphids को दुसरे जहरीले कीड़े खा जाते हैं लेकिन ऐसे जहरीले कीड़ो को चीटियाँ मार देती हैं इसी तरह से उनके genes उन्हें एक-दुसरे की रक्षा करना सिखाती है |

4.Zero Sum Game (The Selfish Gene Summary In Hindi)

बहुत सारे species में प्रिडेटर-प्रे जैसा रिलेशनशिप इजात हुआ है जिसमे एक जीतता है तो दूसरा हारता है जैसे शेर हिरन का शिकार करता है लेकिन ऐसे में दोनों की gene में मुकाबला भी होता है |

जैसे हिरन की gene ने उसे तेज दौड़ने की क्षमता दी है जिसमे हिरन तेज भागने में सफल हो जाता है और अपनी जान बचा लेता है लेकिन शेर भूखा मर सकता है |

मगर कई बार हिरन भी मारा जाता है और ऐसे में शेर के gene की जीत होती है फिर चाहे कुछ भी हो सारी species कभी भी विलुप्त नहीं होती हैं ना ही सारे हिरन मारे जाते हैं और नाही शेर भूखे मरते हैं |

क्योकि उनके gene ने अपने survival का मैकेनिज्म बनाया हुआ है |

Also Read : Homo Deus Book Summary In Hindi

5.Non-Zero Sum Game

कई बार हमे देखने को मिलता है की दो gene एक-दुसरे की मदद भी करती है ताकि किसी तीसरे का फायदा हो जाए |

जैसे दो लोग जब बैंक में जाते हैं तो उन्हें एक बैंकर बोलता है की मै तुम्हे स्टॉक और म्यूच्यूअल फण्ड के बारे में कुछ एक्सक्लूसिव जानकारी दूँगा लेकिन इसके लिए तुम्हे per-person 100 रूपये देने होंगे |

ऐसे में वे दोनों सोचते हैं की हम में से कोई एक उस बैंकर से जानकारी ले लेगा और वो मुझे और बाकी के लोगो को वही जानकारी दे देगा | जिससे हमारे एक्स्ट्रा 100 रूपये और बाकी लोगो के भी 100-100 रूपये बच जाएँगे |

अगर वे ऐसा नहीं करते तो उन्हें अलग-अलग 100-100 रूपये देने पड़ते | इसी तरह का behavior मनुष्यों में evolve हुआ और इससे gene अपना survival ढूंढ लेती है |

6.Mother Nurturing Kids (The Selfish Gene Audiobook In Hindi)

सभी माँ अपने बच्चो को दूध पिलाती हैं लेकिन ये आपको selfish traits लग सकती है लेकीन यहाँ भी gene का अपना ही स्वार्थ होता है |

क्योकि माँ को ऐसा ही behavior मिला होता है की वो अपने बच्चे को दूध पिलाए | क्या पता ऐसा भी हो सकता है की एक माँ अपने बच्चो को अकेले और भूखा छोड़कर चले जाए |

लेकिन बच्चो को दूध पिलाने से ही वे जीवित रह पाएँगे और जो gene एक माँ ने अपने बच्चे को दी है इसी से वो भी survive करेगा |

और इसी तरह पीढ़ी दर पीढ़ी चलते रहेगा और gene अगली जनरेशन में चले जाएगा |

Also Read : Atlas Of The Heart Book Summary

7.Altruistic Behavior

जैसे कुछ जानवरों में altruistic behavior भी दिखता है जिसमे कुछ जानवर पूरे ग्रुप के लिए खुद को कुर्बान कर देता है जैसे जब हिरन के झुण्ड में कोई शेर हमला कर देता है जिसमे कई मादा हिरन और बच्चे भी होते है ऐसे में जो हिरन altruist होता है वो वही खड़ा रहता है और भागता नहीं है |

उसके बाद वो शेर उस हिरन को मार देता है और बाकी का झुण्ड बच जाता है और उनकी आने वाली पीढ़ी बच जाती है लेकिन ऐसा नहीं है की इनके खत्म होने से gene भी खत्म हो जाएगी बल्कि उनके झुण्ड के बचने से ज्यादातर gene बच जाती है |

ऐसे ही हम ह्यूमन के behavior में भी होता है जहाँ कई बार गरीब घरो में माता-पिता अपने बच्चो को अपने हिस्से की रोटी भी दे देते है और खुद भूखे रह जाते है इस behavior से gene बच्चो के survival को ensure करती है |

8.Kin Selection (The Selfish Gene Book Review In Hindi)

हम Kin सिलेक्शन में काफी बंधे रहते हैं जिसका मतलब ये है की हम अपने नजदीकी रिश्तेदारों को बाकी की तुलना में ज्यादा favor करते हैं और ऐसा ज्यादातर होता भी है जैसे क्या आप पहले अपने भाई की मदद करोगे या किसी दूर के जानने वाले की?|

ये behavior जानवरों में भी इसीलिए इजात हुआ है क्योकि इससे gene खुद का बचाव कर सकती है आपका और आपके भाई के gene same ही होंगे जबकि दूर के रिश्तेदार या किसी अजनबी के gene same नहीं होंगी | इसीलिए same gene पहले अपने जैसी ही gene का बचाव करने की सोचेगी |

9.Cultural Memes

इस आखिरी भाग में Meme के बारे में बात की गयी है जहाँ Meme का मतलब किसी भी कल्चर से सम्बन्धित कोई भी आईडिया है |ये आईडिया किसी भाषा, धर्म, फैशन, कला और रीति-रिवाज से हो सकता है |

लेखक ने कहा की जिस तरह से gene, evolution की बेसिक यूनिट हैं वैसे ही meme कल्चर की बेसिक यूनिट हैं | जिस तरह से gene आगे चलती रहती है वैसे ही meme भी आगे चलती रहती है जो कभी खत्म नहीं होती है |

Vikram mehra

मेरा नाम विक्रम मेहरा है मै उत्तराखंड का रहने वाला हु मैंने B.sc (PCM) से की हुई है और मुझे टेक्नोलॉजी, साइंस और लोगो को अपने ऑनलाइन माध्यम से शिक्षा देना बहुत पसंद है मेरा मकसद ऑनलाइन माध्यम से लोगो तक इनफार्मेशन पहुचाना है और साथ ही मुझे मूवीज देखना, घूमना बहुत पसंद है |

Leave a Reply