You are currently viewing What is computer and essay on computer in hindi | कंप्यूटर क्या है और कंप्यूटर पर निबन्ध.

What is computer and essay on computer in hindi | कंप्यूटर क्या है और कंप्यूटर पर निबन्ध.

दोस्तों आज के इस टॉपिक में हम कंप्यूटर के बारे में सबकुछ जानेंगे और essay on computer in hindi के माध्यम से भी आपको पूरी जानकारी देंगे |

What is computer and essay on computer in hindi: कंप्यूटर क्या है और कंप्यूटर पर हिंदी निबन्ध

Table of Contents

कंप्यूटर के बारे में जानने से पहले आप ये बात जान ले की कंप्यूटर कोई ऐसी शक्ति नही है जो हम जैसे इंसानों को हर किसी मानको में हरा दे यह केवल एक इलेक्ट्रॉनिक मशीन है जो बहुत तेजी से अपना काम करता है और बहुत कम गलती करता है |

लेकिन इसकी योग्यता सीमित है यह इंग्लिश के शब्द computer से बना है जिसका मतलब गणना करना होता है और हिंगि में इसे संगणक कहते है इसका उपयोग बहुत सारे सूचनाओ को प्रोसेस करने तथा एकत्रित करने के लिए होता है |

कंप्यूटर एक ऐसा यंत्र है जो डेटा ग्रहण करता है व इसे सॉफ्टवेर या प्रोग्राम के अनुसार किसी परिणाम के लिए प्रोसेस करता है |

कंप्यूटर को कृत्रिम बुद्दी की संज्ञा दी गयी है इसकी स्मरण शक्ति मनुष्य की तुलना में ज्यादा होती है |

कंप्यूटर का फुल फॉर्म (Full form of COMPUTER):

  • C : Commonly
  • O : Operated
  • M : Machine
  • P : Particularly
  • U : Used for
  • T : Technical
  • E : Educational
  • R : Research

कंप्यूटर में इस्तेमाल होने वाले elementery words :

कंप्यूटर में मुख्यतः दो प्रकार के शब्द इस्तेमाल होते हैं :

डेटा (data) : ये कंप्यूटर में प्रोसेस होने से पहले की डाटा है जो दो भागो में विभाजित है

  1. संख्यात्मक डेटा (numerical data) : इस तरह के डेटा में 0 से 9 तक के अंको का प्रयोग होता है जैसे: कर्मचारियों का वेतन, परीक्षा में प्राप्त अंक, रोल नंबर, या फिर ऐसी कोई भी नंबर वाली संख्या |
  2. अल्फनुमेरिक डेटा (alphanumeric data) : इस तरह के डाटा में अंको, अक्षरों तथा चिन्हों का प्रयोग किया जाता है जैसे: पता, नाम इत्यादि |

सूचना (information) : यह अव्यवस्थित डेटा का प्रोसेस करने के बाद प्राप्त परिणाम है जो व्यवस्थित होता है |

कंप्यूटर की विशेषताए :

  1. यह तीव्र गति से कार्य करता है और समय की बचत करता है |
  2. यह बिना गलती के कार्य करता है |
  3. यह स्थायी और विशाल भंडारण स्टोर की सुविधा डेटा है जहाँ हम बहुत ज्यादा डाटा स्टोर कर सकते है |
  4. यह पूर्व निर्धारित निर्देशों के अनुसार तीव्र निर्णय लेने में सक्षम है |

कंप्यूटर के उपयोग : Uses of computer

  1. शिक्षा के फिल्ड में इसका महत्वपूर्ण योगदान है |
  2. वैज्ञानिक अनुसन्धान में
  3. रेलवे तथा वायुयान के फिल्ड में इसका उपयोग होता है |
  4. बैंक में अब इनका उपयोग हो रहा है |
  5. Hostipal में भी इनका उपयोग |
  6. रक्षा के क्षेत्र में |
  7. व्यापर में |
  8. मनोरंजन में क्षेत्र में |
  9. संचार के क्षेत्र में |

कंप्यूटर के कार्य क्या हैं? : Functions of computer

computer का कार्य डेटा संकलन (data collection), डेटा संचयन (data storage), डेटा संसाधन (data processing) तथा डेटा निर्गमन (data output) का होता है और ये सभी प्रोसेस अपने अपने हिसाब से कार्य करते हैं |

कंप्यूटर के निर्माण से पहले ये सभी काम मैन्युअल विधि से होते थे जिन्हें डेटा प्रोसेसिंग कहते थे लेकिन अभी के समय में जैसे जैसे टेक्नोलॉजी का विकास हुआ है ये सभी कार्य अब कंप्यूटर से होने लगे हैं इसे इलेक्ट्रॉनिक डेटा प्रोसेसिंग (E.D.P) कहते है |

डेटा प्रोसस्सिंका का मुख्य काम अव्यवस्थित डेटा से व्यवस्थित डेटा को प्राप्त करना होता है जिसका उपयोग निर्णय लेने के लिए होता है |

कंप्यूटर के सिस्टम क्या क्या होते हैं?

यह उपकरणों का एक समूह है जो एक साथ मिलकर डेटा प्रोसेस करते हैं कंप्यूटर सिस्टम में अनेको तरह की इकाईया होती है जिनका उपयोग इलेक्ट्रॉनिक डेटा प्रोसेसिंग में होता है.

what is computer and essay on computer in hindi
image credit : canva

इनपुट यूनिट (Input unit) : ऐसी यूनिट जो यूजर से डेटा प्राप्त कर सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट को इलेक्ट्रॉनिक पल्स के रूप में देती है उदाहरण के लिए जब हम एटीएम  में पैसें निकालने जाते है तो हम अपना पासवर्ड डालते है और पासवर्ड डालने के लिए इनपुट यूनिट के रूप में कीपैड का उपयोग होता है जो एटीएम में लगा होता है |

सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट (CPU) : इसे प्रोसेसर भी कहते है यह एक इलेक्ट्रॉनिक माइक्रोचिप है जो डेटा को इनफार्मेशन में बदलते हुए प्रोसेस करता है इसे कंप्यूटर का दिमाग भी कहा जाता है यह कंप्यूटर सिस्टम से सारे कार्यो को नियंत्रित करता है तथा यह इनपुट को आउटपुट में बदलता है और यह इनपुट तथा आउटपुट यूनिट से मिलकर पूरा कंप्यूटर सिस्टम बनाता है :

what is computer and essay on computer in hindi
image credit: canva
  1. अरिथमेटिक लॉजिक यूनिट (Arithmetic logis unit) :इसका उपयोग अंकगणित तथा गणना में होता है जिसमे जोड़ना, घटाना, गुणा और भाग का कार्य होते है |
  2. कण्ट्रोल यूनिट (Control unit): यह कंप्यूटर के सारे कार्यो को नियंत्रित करता है तथा कंप्यूटर से सारे भागो जैसे: इनपुट, आउटपुट डिवाइस, प्रोसेसर इत्यादि के सारे गतिविधियों के बीच तालमेल बैठाता है |
  3. मेमोरी यूनिट (Memory unit) : यह डेटा तथा निर्देशों के संग्रह करने में काम करता है और इसे मुख्यतः दो भागो में विभाजित किया है प्राइमरी और सेकेंडरी मेमोरी | जब कंप्यूटर कार्यशील रहता है मतलब वर्तमान में उपयोग हो रहे डेटा तथा निर्देशों का संग्रह प्राइमरी मेमोरी में होता है और सेकेंडरी मेमोरी का उपयोग बाद में उपयोग होने वाले डेटा तथा निर्देशों को स्टोर करता है |

आउटपुट यूनिट (Output unit) : ऐसे यूनिट जो सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट से डेटा लेकर उसे यूजर को समझने योग्य बनाता है जैसा की जब हम सुपर मार्किट में बिल देते है तो हमे रसीद मिलती है जो एक आउटपुट का रूप है |

कंप्यूटर का इतिहास : History of computer

विकास वर्ष मुख्य तथ्य
अबेकस 3000-2000 ई पूर्व प्रथम मशीनी कंप्यूटर
पास्कल कैलकुलेटर 1645प्रथम मशीन जो जोड़, घटाव और गिनती करने में सक्षम था |
जैकवार्ड विभिंग लूम 1801बुनाई के पैटर्न को कण्ट्रोल करने के लिए धातु प्लेट पंच होल के साथ उपयोग किया गया था |
बैवेज एनालिटिकल इंजन 1834-1896प्रथम जनरल पर्पस कंप्यूटर बनाने की कोशिश परन्तु बैबेज के जीवन काल में ये संभव ना हो सका
हरमन ताबुलेतिंग मशीन 1887-96डेटा को कार्ड में पंच करने तथा संग्रहित डेटा को सही करने हेतु कोड और यंत्र का निर्माण किया गया
हावर्ड आइकॉन मार्क – I 1937-44इलेक्ट्रो मैकेनिकल कंप्यूटर का निर्माण हुआ, जिनमे डेटा संग्रह के लिया पंच पेपर टेप का प्रयोग हुआ
ENIAC1945-52प्रथम सम्पूर्ण इलेक्ट्रॉनिक गणना यंत्र जिसमे प्रोग्राम स्थायी रूप से समाहित था
वान न्यू मेन स्टोर्ड प्रोग्राम कांसेप्ट 1945-52कंप्यूटर के मेमोरी में निर्देश और डेटा स्टोर करने की अवधारणा का विकास हुआ डेटा और निर्देश की बाइनरी में कोसे करने की शुरुआत हुई
EDSAC1946-52प्रथम कंप्यूटर जो सूचनाओं और निर्देशों को अपने मेमोरी में स्टोर करने में सक्षम था |
UNIVAC-I1951-54प्रथम कंप्यूटर जो व्यावसायिक रूप से उपलब्ध था

Abacus : प्राचीन समय में गणना करने के लिए अबेकस का उपयोग किया जाता था अबेकस एक ऐसा यंत्र है जिसका उपयोग आंकिक गणना के लिए किया जाता है गणना तारो में पिरोये मोतियों के द्वारा किया जाता है इसका आविष्कार चीन में हुआ |

पास्कल कैलकुलेटर या pascaline : इस मशीन का निर्माण सन 1645 में फ्रांस के गणितज्ञ ब्लेज पास्कल ने किया था उस कैलकुलेटर में इंटर लॉकिंग गियर का उपयोग किया जाता था जो 0 से 9 तक के संख्या को दर्शाता था यह केवल जोड़ और घटाव करने में सक्षम था बाद में इसे adding machine भी कहा गया |

एनालिटिकल इंजन (Analytical engine) : सन 1801 में जोसेफ मेरी जैकवार्ड ने स्वचालित बुने मशीन का निर्माण किया इसमें धातु के प्लेट हो छेदकर पंच किया गया था और जो कपडे की बुनाई को नियंत्रित करने में सक्षम था

सन 1820 में एक अंग्रेज आविष्कारक चार्ल्स बैबेज ने डिफ़रेंस इंजन तथा बाद में एनालिटिकल इंजन बनाया इनका कांसेप्ट का उपयोग करके पहला कंप्यूटर प्रोटोटाइप का निर्माण किया गया इस कारण चार्ल्स बैबेज को कंप्यूटर का जन्मदाता (Father of computer) कहा जाता है और दस साल के मेहनत के बावजूद से पूरी तरह सफल नही हुए |

हरमैन हौलर्थ और पंच कार्ड (Hrman hollerth and punch cards) : सन 1880 के लगभग हौलर्थ ने पंच कार्ड का निर्माण किया जो आज के कंप्यूटर कार्ड की तरह होता था उन्होंने हौलर्थ 80 कॉलम कोड और सेन्सस टेबुलेटर का भी आविष्कार किया |

प्रथम इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटर (ENIAC) : सन 1942 में हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के एच् आइकन ने एक कंप्यूटर का निर्माण किया यह कंप्यूटर मार्क-1 आज के कंप्यूटर का प्रोटोटाइप था सन 1946 में द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान ENIAC (Electronic numerical integrated and calculator) का निर्माण j. presper eckert और john muchly ने किया था |

स्टोर्ड प्रोग्राम कांसेप्ट(EDSAC) : स्टोर्ड प्रोग्राम कांसेप्ट के अनुसार प्रचालन निर्देश एयर आंकड़ा जिनका प्रोसेसिंग में उपयोग हो रहा है उसे कंप्यूटर में स्टोर्ड होना चाहिए और जरूरत के अनुसार प्रोग्राम के execution के समय रूपांतरित होना चाहिए |

UNIVAC-I : इसे यूनिवर्सल आटोमेटिक कंप्यूटर भी कहते है सन 1951 में व्यापारिक उपयोग के लिए उपलब्ध यह प्रथम कंप्यूटर था इसमें प्रथम पीढ़ी के कंप्यूटर के गुण समाहित थे |

कंप्यूटर की पीढियाँ : Computer generation

कंप्यूटर की विभिन्न पीढियों को विकसित करने का उद्देश्य सस्ता, छोटा, तेज तथा विश्वासी कंप्यूटर बनाना रहा है और अभी तक पांच पीढ़ी के कंप्यूटर बन चुके हैं |

  1. प्रथम पीढ़ी के कंप्यूटर (First Generation Computer – 1942-55)
  2. दूसरी पीढ़ी के कंप्यूटर (Second Generation Computer  ­­­- 1955-64)
  3. तीसरी पीढ़ी के कम्पुटर (Third Generation computer – 1965-74)
  4. चौथी पीढ़ी के कंप्यूटर (Fourth Generation Computer – 1975- till now)
  5. पांचवी पीढ़ी के कंप्यूटर (Fifth Generation Computer – at present)
पीढ़ी विशेषता
प्रथम पीढ़ी 1.इलेक्ट्रॉनिक सर्किट में निर्वात ट्यूब का उपयोग |
2.प्राइमरी इंटरनल स्टोरेज के रूप में मैग्नेटिक ड्रम का उपयोग|
3.सीमित मुख्य भंडारण लिमिट |
4.मंद गति के इनपुट-आउटपुट |
5.निम्न स्तरीय प्रोग्रामिंग भाषा, मशीनी भाषा, असेम्बली भाषा|
6.ताप नियन्त्रण में असुविधा|
7.उपयोग-पेरौल प्रोसेसिंग और रिकॉर्ड रखने में |
8.उदहारण=IBM 650 UNIVAC
द्वितीय पीढ़ी 1.ट्रांसिस्टर का उपयोग शुरू हुआ|
2 .मुख्य भंडारण लिमिट में वृध्दि |
3 .तीव्र इनपुट-आउटपुट|
4 .उच्च स्तरीय भाषा |
5.आकार और ताप में कमी|
6.तीव्र और विश्वनीय|
7.बेंच ओरिएंटेड उपयोग|
8.उदहारण = IBM 1401 Honey well 200 CDC 1604
तीसरी पीढ़ी 1.इंटीग्रेटेड चिप का उपयोग|
2.अधिक लचीला इनपुट आउटपुट |
3.तीव्र, छोटे और विश्वनीय|
4.उच्चस्तरीय भाषा का वृहत उपयोग|
5 .रिमोट प्रोसेसिंग और टाइम शेयरिंग सिस्टम, मुलती प्रोग्रामिंग|
6 .इनपुट आउटपुट को नियंत्रित करने के लिए सॉफ्टवेयर उपलब्ध|
7.उपयोग: एयरलाइन्स रिजर्वेशन सिस्टम, क्रेडिट कार्ड बिलिंग, मार्किट फोरकास्टिंग में उपयोगी|
8.उदहारण : IBM System/360, NCR 395, Burrough B6500|
चतुर्थ पीढ़ी 1.VLSI का तथा ULSI उपयोग|
2.उच्च तथा तीव्र क्षमता वाले भंडारण |
3.मिनी कंप्यूटर के उपयोग में वृध्दि |
4.माइक्रोप्रोसेसर और मिनी कंप्यूटर का आरम्भ|
5.उपयोग: इलेक्ट्रॉनिक फण्ड ट्रान्सफर, व्यावसायिक उत्पादन और सामान्य रूप में उपयोगी |
6. उदहारण: IBM PC-XT, apple II
पांचवी पीढ़ी 1.ऑप्टिकल डिस्क का भंडारण में उपयोग|
2.इन्टरनेट, ईमेल तथा WWW का विकास|
3.आकार में बहुत छोटे, तीव्र तथा उपयोगिता में आसानी प्लग और प्ले हो जाना|
4.उपयोग: इन्टरनेट, मल्टीमीडिया का उपयोग करने में |
5.उदहारण: IBM नोटबुक, Pentium PC, सुपर कंप्यूटर इत्यादि |
what is computer and essay on computer in hindi
image credit : canva

कार्य पध्दति के आधार पर वर्गीकरण : Classification on working system

डिजिटल कंप्यूटर (Digital computer) : डिजिटल कंप्यूटर में आंकड़े को इलेक्ट्रॉनिक पल्स के रूप में निरुपित किया जाता है जिसकी गणना 0 से 1 निरुपित की जाती है इसका एक उदहारण डिजिटल घडी है इनकी गति तीव्र होती है तथा यह करोडो गणनाए प्रति सेकंड कर सकता है |

एनालॉग कंप्यूटर (Analog computer) : इसमें बिद्युत के एनालॉग रूप का उपयोग किया जाता है इसकी गति धीमी होती है वोल्टमीटर और बैरोमीटर इत्यादि एनालॉग है.

हाइब्रिड कंप्यूटर (Hybrid computer) : यह डिजिटल तथा एनालॉग का मिश्रित रूप है इसमें इनपुट तथा आउटपुट एनालॉग रूप में होता है परन्तु प्रोसेसिंग डिजिटल रूप में होता है इनमे एनालॉग से डिजिटल कंर्भ्टर तथा डिजिटल से एनालॉग कंर्भ्टर का उपयोग होता है

what is computer and essay on computer in hindi
image credit: pixabay.com

आकार के आधार पर कंप्यूटर का वर्गीकरण :

आकार के आधार पर कंप्यूटर के बहुत प्रकार हैं जिनके तकनीक में सुधार हो रहे है और उनका आकार भी हमारे सहूलियत के अनुसार बदल गये है :

  1. मेनफ़्रेम कंप्यूटर (Mainframe computer)
  2. मिनी कंप्यूटर (Mini computer)
  3. माइक्रो कंप्यूटर (Micro computer)
  4. पर्सनल कंप्यूटर (Personal computer)
  5. लैपटॉप (Laptop)
  6. पामटॉप (Palmtop)
  7. सुपर कंप्यूटर (Super computer)

इनपुट डिवाइस और आउटपुट डिवाइस (Input device and output device in hindi):

इनपुट डिवाइस क्या होता है? : what is input device in hindi

कंप्यूटर में जिन यंत्रो के द्वारा डाटा को इनपुट किया जाता है अर्थात जिन यंत्रो से आंकड़े, शब्दों या निर्देश मेमोरी में डाले जाते है इनपुट डिवाइस कहे जाते हैं |

अगर दुसरे भाषा में समझे तो जिनके द्वारा हम कंप्यूटर को निर्देश देते है और कंप्यूटर उन पर प्रोग्राम के अनुरूप कार्य करता है जैसे की कुछ इनपुट डिवाइसेस निम्नलिखित हैं:

  • कीबोर्ड
  • माउस
  • ट्रैकबॉल
  • जोस्टिक
  • माइक्रोफोन
  • वेब कैम
  • बार कोड रीडर
  • ओ सी आर
  • एम् आई सी आर रीडर
  • ओ एम् आर रीडर
  • किम बॉल रीडर
  • स्पीच रिकग्निशन सिस्टम
  • लाइट पैन
  • टच स्क्रीन

आउटपुट डिवाइस क्या होता है? : what is output device in hindi

ये ऐसे उपकरण हैं जो प्रोसेस के उपरांत रिजल्ट देते या प्रदर्शित करते है इसके द्वारा प्रोसेस की गयी डाटा को देखा जाता है कंप्यूटर के कुछ ऐसे आउटपुट डिवाइस है :

  1. मॉनिटर
  2. प्रिंटर
  3. स्पीकर
  4. प्लॉटर
  5. स्क्रीन इमेज प्रोजेक्टर

हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर (Hardware and software in hindi):

हार्डवेयर क्या होता है? : what is hardware in hindi

कंप्यूटर के जिन भागो को हम छू या महसूस कर सकते है उन्हें हार्डवेयर कहते है जैसे : मोनिटर, CPU, कीबोर्ड, माउस इत्यादि |

सॉफ्टवेयर क्या होता है? : what is software in hindi

कंप्यूटर के जिन भागो को हम छु या महसूस नही कर सकते है उन्हें सॉफ्टवेयर कहते है जैसे : ऑपरेटिंग सिस्टम, माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस इत्यादि |

Also read : Online work from home essay in hindi

Final words :

मैंने आपको इसमें की सारी बेसिक जानकारी दे दी है जो आपको इतने अच्छे तरीके से कही और नही मिलेगी essay on computer in hindi के इस टॉपिक में आप इसे कंप्यूटर के निबन्ध के रूप में भी समझ सकते हैं |

अगर आपको ये जानकारी अच्छी लगी या इसके बारे में और जानना हो तो कमेंट करके बता सकते हैं |

Vikram mehra

मेरा नाम विक्रम मेहरा है मै उत्तराखंड का रहने वाला हु मैंने B.sc (PCM) से की हुई है और मुझे टेक्नोलॉजी, साइंस और लोगो को अपने ऑनलाइन माध्यम से शिक्षा देना बहुत पसंद है मेरा मकसद ऑनलाइन माध्यम से लोगो तक इनफार्मेशन पहुचाना है और साथ ही मुझे मूवीज देखना, घूमना बहुत पसंद है |

Leave a Reply